उत्तर कोरिया ने सियोल में अमेरिकी राजदूत के आगमन से पहले वार्ता रद्द की

सियोल (दक्षिण कोरिया). उत्तर कोरिया ने ठप पड़ी परमाणु कूटनीति पर चर्चा के लिए अमेरिका के विदेश उप मंत्री स्टीफन बीगन की दक्षिण कोरिया की यात्रा से ठीक पहले एक बार फिर कहा है कि उसकी अमेरिका के साथ बातचीत शुरू करने की फिलहाल कोई मंशा नहीं है। उत्तर कोरिया के आधिकारिक कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) के माध्यम से जारी एक बयान में विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी क्वोन जोंग गुन ने अमेरिका और उनके देश के बीच वार्ता शुरू करने की दक्षिण कोरिया की “बेतुकी” मांग को खारिज किया है और वह भी तब जब उसने मध्यस्थ के तौर पर अपनी प्रासंगिकता खो दी है।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि बीगन इस हफ्ते दक्षिण कोरिया और जापान में अधिकारियों के साथ अपनी बैठक में कई मुद्दों पर संबद्ध सहयोग पर चर्चा करेंगे जिसमें उत्तर कोरिया का, “अंतिम, पूर्ण प्रमाणित परमाणु निशस्त्रीकरण” भी शामिल होगा। ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने 2018 में उच्च स्तरीय परमाणु कूटनीति शुरू करने के बाद से तीन बार मुलाकात की है। लेकिन पिछले साल फरवरी में वियतनाम में दूसरी शिखर वार्ता के बाद से बातचीत कमजोर पड़ गई जहां अमेरिका ने परमाणु क्षमता कम करने के बदले प्रतिबंधों में बड़ी छूट की उत्तर कोरिया की मांग को खारिज कर दिया था।

ठप पड़ी वार्ता के बीच, उत्तर कोरिया ने हाल के महीनों में बार-बार कहा है कि वह ट्रंप के साथ तब तक हाई प्रोफाइल बैठकें नहीं करेगा जब तक कि उसे बदले में कुछ ठोस नहीं मिल जाता। उत्तर कोरिया दक्षिण कोरिया पर भी दबाव बना रहा है और उसने उसके साथ सभी सहयोग बंद कर दिया है तथा पिछले महीने अपनी सीमा में स्थित अंतर कोरियाई संपर्क कार्यालय को ध्वस्त कर दिया था। क्वोन ने एक बयान में कहा, “स्पष्ट रूप से एक बार फिर कह रहा हूं कि हमारी अमेरिका के साथ आमने-सामने बैठने की कोई मंशा नहीं है।”(एजेंसी)