Indian American health workers demonstrate on green card issue

    वाशिंगटन (अमेरिका): अमेरिका (America) के राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) ने पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) द्वारा वैश्विक महामारी के दौरान लागू की गई उस नीति को निरस्त कर दिया है जिसमें ग्रीन कार्ड (Green Card) आवेदकों के अमेरिका आने पर रोक लगाई गई थी। इस कदम से अमेरिका में एच-1बी वीजा (H-1B Visa) पर काम करने वाले भारतीयों को भी फायदा पहुंचेगा। ‘ग्रीन कार्ड’ को आधिकारिक रूप से स्थायी निवासी कार्ड भी कहा जाता है। यह अमेरिका में अप्रवासियों का दिए जाने वाला एक ऐसा दस्तावेज है, जो इस बात का प्रमाण है कि उक्त व्यक्ति को स्थायी रूप से देश में रहने का अधिकार दिया गया है।

    पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल वसंत में कोरोना वायरस के कारण बढ़ती बेरोजगारी से निपटने का हवाला देते हुए 2020 के अंत तक ग्रीन कार्ड जारी करने पर रोक लगा दी थी, जिसे 31 दिसम्बर को उन्होंने मार्च अंत तक के लिए बढ़ा दिया था। बाइडन ने बुधवार को कहा कि वैध आव्रजन को रोकना ‘‘अमेरिका के हित में नहीं है।”

    बाइडन ने कहा, ‘‘ बल्कि इससे अमेरिका को नुकसान पहुंचता है….जिसमें अमेरिकी नागरिकों या वैध स्थायी निवासियों के परिवार के सदस्यों को यहां उनके परिवारों से मिलने से रोकना शामिल है। यह अमेरिका के उद्योगों को भी प्रभावित करता है, जिसका विश्वभर के प्रतिभाशाली लोग हिस्सा हैं।” अमेरिकी आव्रजन वकील संघ के अनुसार, इन आदेशों से अधिकतर आव्रजन वीजा पर रोक लग गई थी।