Kartarpur corridor

लाहौर. पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (Pakistan Sikh Gurdwara Parbandhak Committee) (PSGPC), नौ नवंबर को ऐतिहासिक करतारपुर गलियारा (Kartarpur Corridor) खोले जाने की पहली वर्षगांठ मनायेगा । कमेटी के प्रमुख सतवंत सिंह ने बृहस्पतिवार को इसकी जानकारी दी । पाकिस्तान में हिंदू एवं सिख समुदायों के मंदिरों एवं संपत्ति का प्रबंधन करने वाले बोर्ड (ईटीपीबी) ने हालांकि पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के इस कदम से स्वयं को अलग कर लिया है ।

बोर्ड ने कहा कि करतारपुर गलियारे को खोले जाने की पहली वर्षगांठ मनाने संबंधी कोई दिशानिर्देश उसे अब तक नहीं मिला है । गौरतलब है कि चार किलोमीटर लंबा करतारपुर गलियारा पंजाब के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक और पाक स्थित गुरुद्वारा करतारपुर साहिब को आपस में जोड़ता है । सिंह ने पीटीआई को बताया, ”हमने सैद्धांतिक तौर पर करतारपुर गलियारे के उद्घाटन की पहली वर्षगांठ मनाने का निर्णय किया है । और, इसके लिये हम दो या तीन मंत्रियों और सरकार के कुछ अन्य अधिकारियों को आमंत्रित करेंगे ।” इस गलियारे के माध्यम से ​भारतीय श्रद्धालु वीजा के बगैर करतारपुर साहिब तक की यात्रा कर सकते हैं । कोरोना वायरस महामारी के कारण यह 16 मार्च से बंद है।(एजेंसी)