Pakistan should take continuous, irreversible action against terrorism: US lawmakers

वाशिंगटन: पाकिस्तान (Pakistan) में अमेरिका (America) के अगले राजदूत बनने के लिए नामित अमेरिकी राजनयिक विलियम टॉड (William Todd) ने कहा कि पाकिस्तान को अतांकवाद के खिलाफ सतत और अपरिवर्तनीय कार्रवाई करनी चाहिए और साथ ही यह दिखाने की जरूरत है कि वह जनसंहार के हथियारों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं के अनुरूप चलने को तैयार है।

टॉड ने मंगलवार को पद की मंजूरी के लिए अमेरिकी सीनेट की विदेशी संबंधों की समिति की सुनवाई में कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि भारत और पाकिस्तान तनाव कम करने के लिए आवश्यक कदम उठाएंगे। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) ने टॉड को पाकिस्तान में अमेरिका का अगला राजदूत नामित किया है। टॉड ने साथ ही कहा कि अफगानिस्तान (Afghanistan) में शांति दोनों देशों के हित में हैं और इसे हासिल करने के लिए अमेरिका और पाकिस्तान का प्रभावी सहयोग जरूरी है।

उन्होंने कहा, ‘‘ क्षेत्रीय आयामों के संदर्भ में, हालांकि, भारत के साथ हमारे मजबूत संबंध हैं, लेकिन यह पाकिस्तान की कीमत पर नहीं बनने चाहिए। मेरा मानना है कि सही परिस्थितियों में, हम दोनों देशों के साथ मजबूत संबंध रख सकते हैं।” उन्होंने कहा, ‘‘ हमें उम्मीद है कि दोनों देश तनाव कम करने के लिए आवश्यक कदम उठाएंगे और जैसा राष्ट्रपति ट्रम्प ने प्रस्ताव दिया था हम दोनों पक्षों के निवेदन पर वार्ता का इंतजाम करने को तैयार हैं।”

टॉड ने कहा, ‘‘क्षेत्रीय तनाव को कम करने और अमेरिका के साथ एक बार फिर मजबूत संबंध स्थापित करने के लिए पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ सतत और अपरिवर्तनीय कार्रवाई करने चाहिए।”

टॉड ने सांसदों से कहा, ‘‘पाकिस्तान को यह दिखाने की जरूरत है कि वह जन संहार के हथियारों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं के अनुरूप चलने को तैयार है।” पाकिस्तान की अफगानिस्तान के नेताओं और तालिबान के बीच ऐतिहासिक ‘अफगान शांति वार्ता’ शुरू कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की बात स्वीकार करते हुए टॉड ने कहा कि इस्लामाबाद की राजनीतिक समझौते के लिए किए जा रहे प्रयासों का समर्थन करने में और भी महत्वपूर्ण भूमिका है, जो 40 वर्ष के युद्ध को समाप्त करेगा। टॉड ने कहा, ‘‘ पाकिस्तान के लिए क्षेत्र में नई और बेहतर भूमिका निभाने का यह एक मौका है और मेरे इस पद के लिए चुने जाने पर यह मेरी उच्च प्राथमिकता होगी।” (एजेंसी)