pakistan

    नयी दिल्ली. हमने सुना और देखा भी है कि भारत (India) के संसद सत्र (Parliament Session) में कई बार गहमा गहमी हो जाती है। लेकिन पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान (Pakistan) में ऐसा ही एक दिलचस्प वाकया हुआ जब सिंध में इमरान खान (Imran Khan) की पार्टी के नेताओं में आपस में ही मारपीट और धक्कामुक्की हो गई। ख़बरों के अनुसार पाकिस्तान की सिंध (Sindh) की विधानसभा (Vidhansabha0 में जब सत्र चल रहा था तब तहरीक ए इंसाफ पार्टी के नेताओं में आपस में जमकर लात-घूंसे चले। 

    गौरतलब है कि माहौल इतना खतरनाक हो गया कि महिला नेताओं को वहां से सर के बल भागना पड़ा। वहीं अब सिंध की विधानसभा में हुए इस भयंकर मारपीट और बवाल का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। दरअसल, सिंध विधानसभा में बीते दिन सीनेट चुनावों को लेकर एक मतदान होना था। इसी के मध्य इमरान खान की पार्टी तहरीक ए इंसाफ के 3 गणमान्य सदस्यों ने यह ऐलान किया कि वो अपनी मर्जी से ही आज मतदान करेंगे। यानी कि वे अपनी पार्टी के निर्देश से अलग जाकर वोट डालने की बात कह रहे थे।

    Courtsey: Ashfak Azar (@AshfakA)

    बस फिर क्या होना था, इसी बात पर पार्टी के बाकी सदस्य इसकदर खफा हो गए कि विधानसभा के अंदर ही बहस शुरू हो गई। यह बहस इतनी बढ़ गई कि नौबत लात-घूंसे के चलने तक पर भी आ गई। अब इसी रोचक हलचल का एक अन्य वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जहां पर सदन में हो रही इस हलचल के मध्य पाकिस्तान की महिला विधायक भी भागती हुई नज़र आ रही हैं। इसमें PPP की नेता शर्मिला फारुकी का वीडियो भी ख़ास तौर से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

    Courtsey: Raza Dharejo PPP

    गौरतलब है कि पाकिस्तान के सीनेट चुनावों में भले ही इमरान खान की पार्टी को अधिक सीटें मिली हों, लेकिन इमरान खान की सरकार में कैबिनेट मंत्री अब्दुल हफीज़ शेख अपनी सीट निश्चित रूप से गंवा बैठे हैं। उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री युसूफ रज़ा गिलानी ने हराया है, जिसके बाद पाकिस्तान में विपक्ष, इमरान सरकार पर खतरनाक रूप से हमलावर है।

    Courtsey: Murtaza Ali Shah

    ऐसी भी खबर है कि विपक्ष के इन्हीं हमलों का सामना करने के लिए अब इमरान खान को नेशनल असेंबली में एक विश्वास मत का भी सामना करना पड़ सकता है। गौरतलब बीते कुछ दिनों में पाकिस्तान का विपक्ष जिस तरह से इमरान सरकार के खिलाफ एकजुट हुआ है, उससे  इमरान सरकार की चिंता बढ़ी हुई है। खैर यह राजनीति है इस सबकुछ तो चलता है लेकिन लात घूंसे तो पहली बार इमरान सरकार की असेंबली में चले हैं।