Pakistan will hold elections in Gilgit Baltistan Assembly on November 15

इस्लामाबाद: भारत (India) द्वारा कड़ी आपत्ति दर्ज कराए जाने के बावजूद पाकिस्तान (Pakistan) ने गिलगित बाल्टिस्तान (Gilgit Baltistan) की विधानसभा के लिए 15 नवंबर को चुनाव (Elections) कराने की घोषणा की है। रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण इस क्षेत्र में इससे पहले चुनाव स्थगित कर दिया गया था। राष्ट्रपति डॉ आरिफ अल्वी (President Ashraf Alvi) ने बुधवार को इस संबंध में एक अधिसूचना जारी की।

वक्तव्य में कहा गया, “पाकिस्तान इस्लामी गणतंत्र के राष्ट्रपति घोषणा करते हैं कि चुनाव अधिनियम 2017 की धारा 57 (1) के तहत रविवार, 15 नवंबर 2020 को गिलगित बाल्तिस्तान विधानसभा में आम चुनाव कराए जाएंगे।” भारत ने पाकिस्तान से कहा है कि गिलगित बाल्टिस्तान समेत जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) और लद्दाख (Ladakh) संघ शासित प्रदेश के संपूर्ण भूभाग का भारत में पूर्ण रूप से वैधानिक और स्थायी विलय हुआ था इसलिए यह देश का अभिन्न अंग है।

भारत ने कहा कि पाकिस्तान की सरकार या उसकी न्यायपालिका का उन क्षेत्रों पर कोई अधिकार नहीं है जिनपर अवैध रूप से कब्जा किया गया था। गिलगित बाल्टिस्तान में 18 अगस्त को चुनाव होने थे लेकिन चुनाव आयोग ने कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए 11 जुलाई को चुनाव की प्रक्रिया टाल दी थी।

चुनाव की नई तारीखों का ऐलान गिलगित बाल्टिस्तान को पूर्ण प्रांत का दर्जा दिए जाने की खबरों के बीच लिया गया है। इस मुद्दे पर विपक्षी दलों और पाकिस्तान सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के बीच 16 सितंबर को हुई बैठक में चर्चा की गई थी।