Pakistani singer Meesha faces three years in jail for falsely accusing Ali Zafar of sexual harassment

    नई दिल्ली: मी टू (MeToo) कैंपेन में पाकिस्तानी एक्टर Pakistani Actor) और सिंगर (Singer) अली ज़फर (Ali Zafar) पर छेड़खानी के आरोप लगाने वाली पाकिस्तानी एक्ट्रेस मीशा शफी (Meesha Shafi) को कोर्ट ने सजा सुनाई है। दरअसल, करीब दो साल पहले पाकिस्तानी सिंगर और एक्ट्रेस मीशा शफी ने अली जफर पर छेड़खानी करने और गलत इरादे से स्टूडियो में पकड़ लेने का आरोप लगाए थे। इसके बाद अली ज़फर के खिलाफ मीशा ने ऑनलाइन कैम्पेन के तहत अपनी छेड़खानी की कहानी भी बताई थी और अली ज़फर पर गंभीर आरोप लगाए थे। अली ज़फर ने आरोपों को ख़ारिज करते हुए मीशा के सभी आरोप गलत बताए थे और कोर्ट में उनके खिलाफ केस फ़ाइल किया था। अब खबर आ रही है कि मीशा को 3 साल जेल में बिताने पड़ सकते हैं।

    मीशा नहीं कर पाईं आरोपों को साबित

    एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीते वर्ष मीशा के खिलाफ कोर्ट में केस फाइल किया गया था। मीशा ने अली ज़फर पर आरोप लगाया था कि,  अली ज़फर ने उन्हें गलत तरीके से एक स्टूडियो में पकड़ लिया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि, मीशा अपने आरोपों को अदालत में साबित नहीं कर पाईं हैं। कोर्ट ने इस मामले पर अपना फैसला सुनाते हुए मीशा को अली ज़फर की छवि खराब करने का दोषी माना है और उन्हें 3 साल की सजा सुनाई है।

    अली ज़फर ने दर्ज किया था केस

    अली जफर पाकिस्तान के जानेमाने सिंगर और एक्टर हैं। उन्होंने बॉलीवुड की कई फिल्मों में भी काम किया है। इनमें तेरे बिन लादेन, लव का दी एंड, मेरे ब्रदर की दुल्हन जैसी फ़िल्में शामिल हैं।  

    MeToo कैंपेन पहुंचा था पाकिस्तान

    कुछ साल पहले तेज़ी के साथ सोशल मीडिया पर MeToo कैंपेन अमेरिका से शुरू हुआ था जो दुनिया के कई देशों तक पहुंचा था। इस कैंपेन के तहत महिलाएं उनके साथ हुए यौन शोषण की कहानी पब्लिक पैलटफोर्म पर शेयर करतीं थीं। इस कैंपेन के में कई नामी हस्तियां पर गंभीर आरोप लगाए गए थे। हॉलीवुड से चला यह मूवमेंट भारत और पाकिस्तान भी पहुंचा था।