Imran Khan silent on Uighur Muslims, wrote a 2-page letter for the solidarity of Muslim countries on 'Islamophobia'

नई दिल्ली: भारत (India) ने बृहस्पतिवार को पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (National Security Advisor) के इस दावे को खारिज कर दिया कि नई दिल्ली (New Delhi) ने दोनों देशों के बीच बातचीत की इच्छा का संकेत देते हुए इस्लामाबाद (Islamabad) को संदेश भेजा है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘कथित संदेश के संबंध में, मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि हमारी तरफ से ऐसा कोई संदेश नहीं भेजा गया।” वह एक मीडिया ब्रीफिंग में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोईद यूसुफ द्वारा ‘द वायर’ समाचार वेबसाइट को दिये गये साक्षात्कार के संबंध में पूछे गये प्रश्नों का उत्तर दे रहे थे। यूसुफ ने साक्षात्कार में कश्मीर समेत अनेक मुद्दों पर टिप्पणी की।

श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘हमने पाकिस्तान के एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा एक भारतीय मीडिया संस्थान को दिये गये साक्षात्कार की खबरें देखी हैं। उन्होंने भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी की है।”

उन्होंने कहा, ‘‘हमेशा की तरह यह पाकिस्तान की मौजूदा सरकार की घरेलू विफलताओं से ध्यान हटाने की तथा रोजाना सुर्खियों में भारत को खींचकर उसके घरेलू घटकों को गुमराह करने की कोशिश है।” श्रीवास्तव ने कहा कि अधिकारी को सलाह दी जाती है कि अपनी सलाह अपने देश तक सीमित रखें और भारत की घरेलू नीति पर टिप्पणी नहीं करें।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘उनके बयान जमीनी तथ्यों के विरोधाभासी, भ्रामक और फर्जी हैं।” एक अलग प्रश्न के उत्तर में श्रीवास्तव ने कहा कि भारत म्यामां की नौसेना को किलो श्रेणी की एक पनडुब्बी की आपूर्ति करेगा।