Peace talks will end war in Afghanistan, America hopes
File

वाशिंगटन: अफ़ग़ानिस्तान (Afghanistan) की निर्वाचित सरकार और तालिबान (Taliban) के बीच ऐतिहासिक शांति वार्ता (Peace Talks) से पहले अमेरिका (America) के एक शीर्ष राजनयिक ने उम्मीद जताई कि अफ़ग़ानिस्तान में लंबे समय से चल रहे युद्ध को खत्म करने की खातिर राजनीतिक खाका तैयार के लिए दोनों धड़े एक समझौते पर सहमत होंगे।

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो (Mike Pompeo) दोहा वार्ता आरंभ होने के दौरान मौजूद रहेंगे और वह दोहा के लिए रवाना भी हो चुके हैं। अफ़ग़ानिस्तान सुलह प्रक्रिया के संबंध में अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि जे खलीलजाद ने कहा, ‘‘बीते 40 साल में पहली बार अफगान लोग साथ में बैठेंगे, सरकारी प्रतिनिधिमंडल में ऐसे लोग होंगे जो सरकार का हिस्सा नहीं हैं, चार जानी मानी महिलाएं होंगी, नागरिक समाज, राजनीतिक समूह आदि सभी तालिबान के प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठेंगे और चर्चा करेंगे।”

उन्होंने कहा, ‘‘उम्मीद है कि अफगानिस्तान जिस युद्ध से जूझ रहा है उसे समाप्त करने के लिए एक राजनीतिक रूपरेखा तैयार करने के समझौते पर पहुंचेंगे।” बहुप्रतीक्षित दोहा शांति वार्ता शुरू होने से पहले संवाददाताओं से बात करते हुए खलीलजाद ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान के लोग युद्ध को खत्म करना चाहते हैं।