Relations with Bangladesh will be further strengthened: India

ढाका: ढाका (Dhaka) में नियुक्त भारत (India) के नए उच्चायुक्त ने कहा है कि बांग्लादेश (Bangladesh) के साथ भाई जैसे संबंध को सभी स्तर पर और मजबूत करना उनकी शीर्ष प्राथमिकता होगी। साथ ही, उन्होंने मौजूदा द्विपक्षीय संबंधों को रणनीतिक साझेदारी से भी आगे बताया। उच्चायुक्त विक्रम कुमार दोरईस्वामी (Vikram Doraiswami) ने कहा कि नई दिल्ली ने उन्हें बांग्लादेश के साथ द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने का कार्य सौंपा है तथा वह इसे पूरा करने के लिये अपनी सर्वेश्रेष्ठ कोशिश करेंगे।

वह पूर्वी आखौरा सीमांत (त्रिपुरा) से पांच अक्टूबर को सड़क मार्ग से बांग्लादेश की राजधानी पहुंचने के बाद बृहस्पतिवार रात मीडिया से पहली बार मुखातिब हुए। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं और मेरे सहकर्मी इस साझेदारी को हर स्तर पर बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे…मेरी सरकार ने मुझे बिल्कुल यही करने को कहा है। ” दोरईस्वामी ने मौजूदा द्विपक्षीय संबंधों को रणनीतिक साझेदारी से भी आगे बताया।

उन्होंने कहा कि करीबी संबंध को और प्रगाढ़ करने की जरूरत है, जबकि बांग्लादेश के साथ भाई जैसा संबंध हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। भारत के नये उच्चायुक्त के अपना परिचय पत्र बांग्लोदश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद को राष्ट्रपति आवास में सौंपे जाने के कुछ ही देर बाद उच्चायुक्त के आधिकारिक इंडिया भवन आवास में यह प्रेस वार्ता हुई।

उन्होंने कहा कि बांग्लादेश-भारत संबंध रणनीतिक साझेदारी से भी आगे है क्योंकि यह साझा बलिदान, इतिहास और संस्कृति तथा अनूठे करीबी संबंध पर आधारित है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं यह जोर देकर कह रहा हूं बांग्लादेश भारत का एक विशेष साझेदार था और हमेशा रहेगा…। ”

उन्होंने कहा, ‘‘हम प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की उम्मीदों पर खरा उतरने की अपनी सर्वश्रेष्ठ कोशिश करेंगे। ” उन्होंने भारत में विकसित होने वाले कोविड-19 के टीके को लेकर बांग्लादेश के साथ सबसे तेजी से संभावित साझेदारी बनाने के प्रति भी भारत की प्रतिबद्धता दोहराई। बांग्लादेश में भारत के नये उच्चायुक्त ऐसे समय पर पहुंचे हैं जब यह देश मुजिब वर्ष (बांग्लादेश के संस्थापक शेख मुजीबुर रहमान का जन्म शताब्दी वर्ष) मना रहा है और बांग्लादेश मुक्ति संग्राम की स्वर्ण जयंती समारोहों की भी तैयारी कर रहा है।