nikaah

    रियाद. अब सऊदी अरब (Saudi Arabia) और पाकिस्तान (Pakistan) के रिश्तों में कड़वाहट का एक और सबूत अब दुनिया के सामने आया है। दरअसल अब सऊदी सरकार ने कुछ नए नियम बनाए हैं, जिसके चलते अब देश के पुरुष, पाकिस्तान, बांग्लादेश, चाड और म्यांमार (Pakistan, Bangladesh, Chad and Myanmar) की महिलाओं से शादी नहीं कर सकेंगे। इस खबर की पुष्टि पाकिस्तानी अखबार ‘डॉन’ ने सऊदी मीडिया की एक रिपोर्ट के हवाले से की है। वहीं अगर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो, वर्तमान में सऊदी अरब में इन चार देशों की लगभग 5,00,000 महिलाएं रह रही हैं। 

    क्या है इस फैसले का कारण:

    कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मक्का के पुलिस महानिदेशक मेजर जनरल असफ अल-कुरैशी (Major General Assaf Al-Qurashi) ने यह स्पष्ट किया है कि विदेशी महिलाओं से शादी करने की इच्छा रखने वाले सऊदी पुरुषों को अब सख्त नियमों का सामना करना पड़ सकता है। उन्होंने कहा कि इस कदम का मुख्य उद्देश्य सऊदी अरब के पुरुषों को विदेशी औरतों से शादी करने से रोकना है। यदि कोई पुरुष ऐसा करना चाहता है, तो उसे इसके लिए एक विशेष अनुमति लेने सहित कई जरुरी औपचारिकताएं अब पूरी करनी होंगी।

    नियम तोड़ने पर होगी कार्रवाई:  

    वहीं अन्य मीडिया रिपोर्ट की मानें तो विदेशी महिलाओं से विवाह करने वालों को पहले अब सरकार की जरुरी सहमति लेनी होगी और विभिन्न आधिकारिक चैनलों के माध्यम से विवाह के आवेदन भी प्रस्तुत करने होंगे। यही नहीं नियमों में यह भी साफ कहा है कि अब तलाकशुदा मर्दों को तलाक के छह महीनों के अंदर नई शादी के आवेदन करने की इजाजत बिलकुल नहीं होगी। वहीं यह भी बताया गया है कि सभी को इन नियमों का कड़ाई से पालन करना होगा और इनके किसी भी प्रकार के उल्लंघन पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

    अब विवाहित पुरुषों को देने होंगे दस्तावेज:

    अब नए नियम में यह कहा गया है कि आवेदकों की उम्र 25 वर्ष से अधिक होनी ही चाहिए और आवेदन के साथ उन्हें स्थानीय जिला महापौर द्वारा हस्ताक्षरित पहचान दस्तावेजों के साथ-साथ अन्य सभी जरुरी पहचान पत्र भी जमा करने होंगे, वहीं उनके परिवार के कार्ड की एक फोटो प्रति भी शामिल है। इसके साथ ही यह बताया गया है कि अगर आवेदक पहले से ही शादीशुदा है, तो उसे स्थानीय अस्पताल की एक  रिपोर्ट भी संलग्न करनी होगी जो यह साबित करे कि उसकी पत्नी विकलांग है या पुरानी बीमारी से पीड़ित है या फिर वह बांझ है। तभी उसे दूसरी शादी की अनुमति मिलेगी।