दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति रामाफोसा ने हिंसक प्रदर्शनों की निंदा की

    जोहानिसबर्ग. दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा (Cyril Ramaphosa) ने देश के पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा (Jacob Zuma) की सजा के विरोध में आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण प्रांतों में पिछले कुछ दिनों से चल रहे हिंसक विरोध-प्रदर्शनों (Violent Demonstrations)की निंदा की है। देश के उच्चतम न्यायालय ने भ्रष्टाचार के आरोपों में जांच आयोग के समक्ष उपस्थित नहीं होने के बाद अदालत की अवमानना के मामले में जुमा को 15 महीने की जेल की सजा सुनायी थी, जिसके विरोध में दंगाइयों की हिंसक भीड़ वाहनों को जला रही है, दुकानें लूट रही है और मुख्य मार्गों को बंद कर रही है।

    राजनीतिक एवं असैन्य नेताओं ने हिंसा की निंदा की है और इसे प्रदर्शन की आड़ में आपराधिक कृत्य बताया है। उन्होंने कहा कि प्रदर्शन करने का अधिकार है लेकिन इसे शांतिपूर्ण तरीके से करना चाहिए। लंबे समय तक चले गतिरोध के बाद जुमा अपने आवास से करीब 200 किलोमीटर दूर एस्टकोर्ट जेल जाने पर सहमत हुए।

    प्रदर्शनकारियों के गिरोह ने सप्ताहांत में तटीय शहर डरबन और आर्थिक गतिविधियों के केंद्र गौटेंग प्रांत के बीच दोनों दिशाओं के मार्ग बंद कर दिए थे। कुछ हथियारबंद प्रदर्शनकारियों ने बड़े ट्रकों और वाहनों में आग भी लगायी। जोहानिसबर्ग में मोटरवाहनों पर गोलियां चलने के कारण प्रमुख राजमार्गों को बंद कर दिया गया। रामाफोसा ने कहा, ‘‘राष्ट्रीय राजमार्ग जैसे महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे प्रभावित हुए हैं और सामान एवं सेवाओं की आवाजाही धीमी पड़ने से हमारी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा है।” (एजेंसी)