Sweden may soon send 10 million doses of AstraZeneca vaccine to India, plans to donate
Representative Image

    सियोल: दक्षिण कोरिया (South Korea) के स्वास्थ्य अधिकारियों (Health Officials) ने बताया कि वे ‘एस्ट्राजेनेका’ (AstraZeneca) के कोविड-19 (Covid-19) रोधी टीके (Vaccine) को फिर से 60 साल और उससे कम उम्र के लोगों को लगाने के संबंध सप्ताहांत में फैसला लेंगे। टीका लगाने से कथित तौर पर रक्त के थक्के जमने (Blood Clot) की खबरों के बाद यूरोप (Europe) में नियामकों द्वारा शुरू की गई जांच के मद्देनजर देश में टीके लगाने बंद कर दिए गए थे।

    ‘कोरिया रोग नियंत्रण एवं रोकथाम एजेंसी’ ने गुरूवार को बताया कि ‘यूरोपियन मेडिसिन एजेंसी‘ ने इस बात पर जोर दिया कि ‘एस्ट्राजेनेका’ टीका लगाने से अधिकतर लोगों में संक्रमण का जोखिम कम होता है। उसने यह भी कहा कि उसे टीके लगाने और थक्के जमने में ‘‘संभावित संबंध” मिला है।

    देश में अभी तक करीब 10 लाख लोगों को कोविड-19 रोधी टीके लग चुके हैं। दक्षिण कोरिया में अभी केवल अस्पताल एवं आपात सेवाओं के कर्मचारियों तथा ‘लॉन्ग-टर्म केयर’ के 60 वर्ष या उससे कम उम्र के लोगों को टीके लगाए जा रहे हैं। दक्षिण कोरिया का टीकाकरण अभियान मुख्यत: ‘एस्ट्राजेनेका’ टीके पर ही निर्भर है।