Muslim organizations in south africa demand intervention from government on burqa ban in srilanka
File

    बर्न: स्विट्जरलैंड (Switzerland) में जनमत संग्रह के बाद मुस्लिम महिलाओं (Muslim Women) द्वारा किए जाने वाले हिजाब (Hijab) और बुर्के (Burqa) के पहनने पर पाबंदी (Ban) के लिए वोटिंग (Voting) की गई है। ये पाबंदी विशेष तौर पर सार्वजनिक जगहों (Public Places) पर लागू करने को लेकर वोटिंग की गई। एक रिपोर्ट के मुताबिक, जनमत संग्रह में 51 प्रतिशत वोटरों ने बुर्का प्रतिबंधित करने के पक्ष में वोट किया था जिसके बाद स्विट्जरलैंड ने सार्वजनिक जगहों पर हिजाब पर पाबंदी लगाने लगाने को लेकर फैसला लिया जा सकता है। सार्वजनिक स्थानों पर बुर्का पहनने की छूट को लेकर जनमत संग्रह का सहारा लिया गया था, जिसपर स्विट्जरलैंड में आम जनता ने 7 मार्च को वोट किया था।

    हालांकि स्विट्ज़रलैंड से पहला कुछ और देशों ने इस तरह के नियम बनाए हुए हैं। इनमें फ्रांस, बेल्जियम और ऑस्ट्रिया जैसे देश शामिल हैं। हालांकि, धार्मिक स्थलों पर जाते समय नकाब पहनने और स्वास्थ्य कारणों, जैसे कि कोरोना  से बचाव के दौरान चेहरा ढकने की छूट रहेगी।

    रिपोर्ट में कहा गया है कि, इस प्रस्ताव के तहत रेस्त्रां, स्पोर्ट्स ग्राउंड, पब्लिक ट्रांसपोर्ट और सड़कों पर चलते समय चेहरा ढंकने पर पाबंदी हो गई। वैसे खबर है कि, स्विट्जरलैंड की संसद और देश की संघीय सरकार का गठन करने वाली सात सदस्यीय कार्यकारी परिषद ने इस जनमत संग्रह प्रस्ताव का विरोध किया। बता दें कि इससे पहले फ्रांस ने साल 2011 में ही चेहरे को पूरी तरह से ढकने वाले कपड़े पहनने पर बैन लगा दिया था।