Taiwan and America pay tribute to Li Teng Hui

ताइपे: ताइवान (Taiwan) में लोकतंत्र लाने वाले पूर्व राष्ट्रपति ली तेंग हुइ (Li Teng Hui) को ताइवान के नेताओं, वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों और एक उच्च स्तरीय अमेरिकी राजदूत ने शनिवार को श्रद्धांजलि दी। इस कार्यक्रम के दौरान अमेरिकी विदेश उपमंत्री कीथ क्रेच भी मौजूद थे।

ताइवान में और इस कार्यक्रम में अमेरिका (America) के क्रेच की मौजूदगी की चीन (China) ने कड़ी आलोचना की है। उसने शुक्रवार को ताइवान जलडमरूमध्य में कुछ दूरी तक 18 जंगी विमान भेजकर शक्ति प्रदर्शन किया था। श्रद्धांजलि कार्यक्रम शनिवार को ताइपे में एलेथिया विश्वविद्यालय में हुआ।

राष्ट्रपति साइ इंग वेन ने ली के सम्मान में कहा कि उन्होंने यहां लोकतंत्र लाने के लिए शांतिपूर्ण राजनीतिक समाधान खोजा। ली का 97 वर्ष की आयु में 30 जुलाई को निधन हो गया था। जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे (Shinzo Abe) और दलाई लामा (Dalai Lama) ने भी अपने-अपने स्थानों पर रहते हुए ली के प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त की है।

दलाई लामा ने वीडियो संदेश में कहा, ‘‘हम बौद्ध लोग मृत्यु के बाद भी जीवन में विश्वास करते हैं इसलिए पूरी संभावना है कि उनका ताइवान में ही पुनर्जन्म होगा।” कार्यक्रम में जापान के पूर्व प्रधानमंत्री योशिरो मोरी भी शरीक हुए।