Accusations continue between Taiwan-China, dispute after violent clash in Fiji

ताइपे: ताईवान (Taiwan) ने जासूसी करने के चीन (China) के आरोपों का मंगलवार को खंडन किया और कहा कि यह आरोप ताईवान सरकार के प्रति दुष्प्रचार करने के उद्देश्य से लगाए गए हैं। चीनी सरकारी मीडिया सीसीटीवी ने सोमवार रात को खबर दिखाई थी जिसमें चेंग यु चिन नामक एक व्यक्ति जासूस होना स्वीकार कर रहा है। बीते कुछ दिनों में ऐसी यह दूसरी खबर है।

रविवार को सीसीटीवी ने दिखाया था कि ली मैंगजू नामक व्यक्ति ने चेंग की ही भांति स्वीकार किया था कि वह चीन को अस्थिर करना चाहता है और सत्ताधारी कम्युनिस्ट सरकार (Communist Party of China) को नुकसान पहुंचाना चाहता है।

खबर में सीसीटीवी ने कहा था कि ‘ऑपरेशन थंडर 2020′ (Operation Thunder 2020) के नाम से ताईवान द्वारा खुफिया अभियान चलाया जा रहा है और चीन ने इससे संबंधित जासूसी के सौ से अधिक मामले सुलझाए हैं।

ताईवान के प्रधानमंत्री सू सेंग चांग ने इन आरोपों को बीजिंग द्वारा ताईवान की छवि खराब करने और भय का माहौल पैदा करने वाला बताया है। ताईवान के विदेश मंत्रालय में यूरोपीय मामलों के प्रमुख जॉनसन चिआंग ने चीन के आरोपों को स्पष्ट रूप से दुष्प्रचार करने वाला और भ्रामक बताया है।