Pakistan Army
File Photo

    खैबर पख्तूनख्वा. पाकिस्तान (Pakistan) के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत (Khyber Pakhtunkhwa) में स्थित कुर्रम (Kurram) में आतंकी हमला (Terrorist Attack) हुआ हैं। जिसमें पाकिस्तानी सेना के कैप्टन समेत 12-15 जवानों की मौत हो गई है, जबकि कई जवान घायल हो गए हैं। इसके अलावा आतंकियों ने पाकिस्तानी सेना के लगभग 63 जवानों को बंधक भी बयाना है। यह हमला तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP) के आतंकियों ने किया है।

    बता दें कि पाकिस्तान ने तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान पर प्रतिबंध लगाया है। पाकिस्तान के उत्तर खैबर पख्तूनख्वा या केपीके प्रांत में सोमवार को एक ऑपरेशन के दौरान पाकिस्तान तालिबान के आतंकियों ने पाकिस्तानी सेना पर अचानक हमला बोल दिया। इसमें 12-15 जवानों की मौत हो गई। इसमें 28 बलूच रेजिमेंट के कैप्टन अब्दुल बासित भी शामिल हैं। बासित पाक फ्रंटियर कॉर्प्स विंग के थाल स्काउट्स में प्रतिनियुक्ति पर थे।

    मीडिया पर चल रही खबरों के अनुसार आतंकियों ने पाकिस्तानी सेना के 63 जवानों को भी बंधक बनाया है। यह पूरा मामला केपीके के कोहाट संभाग के कुर्रम जिले का है। पाकिस्तानी सेना बंधक बनाए सैनिकों को छुड़ाने का का प्रयास कर रही हैं।

    पाकिस्तान में तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान हमेशा आतंकी हमलों को अंजाम देता आ रहा है। इस आतंकी संगठन की शुरुआत दिसंबर 2007 में 13 आतंकी गुटों ने मिलकर की थी। तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का मकसद पाकिस्तान में शरिया पर आधारित एक कट्टरपंथी इस्लामी शासन कायम करना है। ये अफगानिस्तान के तालिबान से अलग है। हालांकि ये संगठन उनकी विचारधारा का समर्थन करता है। तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने ही पाकिस्तान के पेशावर में 16 दिसबंर 2014 को आर्मी स्कूल पर हमला किया था। इस हमले में तकरीबन 200 मासूम बच्चों की जान चली गई थी।