The incendiary balloons of extremist groups became a headache for Israel
Photo:Twitter

    येरूशलम: इजराइली विमान ने बुधवार तड़के गाजा पट्टी (Gaza Strip) में उग्रवादियों के स्थलों पर हमले (Attack) किए। यह पिछले महीने हमास (Hamas) के साथ युद्ध को समाप्त करने वाले संघर्षविराम (Ceasefire) के बाद इस प्रकार का पहला हमला है। इजराइली सेना (Israel Army) ने कहा कि, उसने उन केंद्रों को निशाना बनाया, जिनका इस्तेमाल हमास उग्रवादी हमलों की योजना बनाने के मकसद से बैठक करने के लिए करते थे। बताया जा रहा है कि, गाजा में चरमपंथी गुटों ने गुब्बारे छोड़ (Incendiary Balloons) कर इसका जवाब दिया। उनकी इस गतिविधि से दक्षिणी इजराइल में कम से कम 10 स्थानों पर आग लग गई। हालांकि यह पहला मामला नहीं है जब फलस्तीनियों ने इसराइल पर अटैक करने के लिए गुब्बारे छोड़ हमला किया है। कहा जाता कि, अब इसी तकनीक का इस्तेमाल फिलिस्तीनी इजरायल के छकाने में कर रहे हैं। 

    आग लगाने वाले गुब्बारों का इस्तेमाल  

    मई 2018 की शुरुआत में गाजा में हीलियम से भरे आग लगाने वाले गुब्बारों का इस्तेमाल पतंगों के साथ किया था। इससे पहले इसी तरह की तकनीक, दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जापान ने उत्तरी अमेरिका में लगभग सैकड़ों फ़ू-गो बैलून बम दागे थे। तब गुब्बारों को बैरोमीटर के सेंसर के जरिये इस्तेमाल किया जाता था। इसके बाद अमेरिका ने भी जापान के फू गो बलून बम की तरह ही बलून बम तैयार किए थे जिसका इस्तेमाल शीत युद्ध के दौरान किया गया था।

    कैसे किया जाता है इस्तेमाल 

    आग लगाने वाला गुब्बारे या गुब्बारा बम में हवा से हल्की गैस या फिर हाइड्रोजन या हीलियम भरी जाती है। इसके बाद गुब्बारों में बम या फिर आग लगाने वाले पदार्थ या उपकरण लगाए जाते हैं। बलून तैयार होने के बाद हवा के रुख को जांचा जाता है और फिर उन्हें टारगेट की जगह छोड़ा जाता है। ये गुब्बारे जहां गिरते हैं, वहां हल्का विस्फोट होता है उसके बाद आग लग जाती है। एक रिपोर्ट के अनुसार, साल 2018 से गाजा पट्टी में चरमपंथी गुटों से जुड़े फिलिस्तीनी हवा में हजारों की संख्या में बलून उड़ाकर इजरायल को छका रहे हैं।

    इजराइल ने जवाबी कार्रवाई में गाजा पट्टी पर हवाई हमले किए  

     मंगलवार को गाजा स्ट्रिप के पास दक्षिणी इजराइल में कई जगहों पर आग लग गई जिसे बुझाने के लिए दमकल विभाग को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। कहा जा रहा है कि, गाजा से चरमपंथी गुटों ने गुब्बारों की मदद से आग लगाने की घटना को अंजाम दिया। इसके बाद इजरायल ने जवाबी कार्रवाई में गाजा पट्टी पर हवाई हमले किए। फिलहाल इन हमलों में किसी के हताहत होने की अभी कोई जानकारी नहीं मिली है।