Trump's special ambassador made first high-level visit to Syria to negotiate missing Americans
File

वाशिंगटन: व्हाइट हाउस (White House) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सीरिया (Syria) में लंबे गृह-युद्ध के बीच वर्षों से गायब दो अमेरिकियों (Americans) की रिहाई सुनिश्चित करने के मकसद से उच्च स्तरीय बातचीत के लिए सीरिया की यात्रा की जिसे गुप्त रखा गया था। ट्रम्प प्रशासन (Trump Administration) के अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर सोमवार को बताया कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) के एक उप सहायक काश पटेल लापता पत्रकार ऑस्टिन टाइस सहित दो अमेरिकियों की रिहाई सुनिश्चित कराने के प्रशासन के प्रयासों के तहत सीरिया गए। पिछले कई वर्षों में सीरिया की एक अमेरिकी अधिकारी की यह पहली उच्च स्तरीय यात्रा है। पहली बार यह खबर रविवार को द वॉल स्ट्रीट जर्नल में छपी।

दो प्रशासनिक अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर द एसोसिएटेड प्रेस से इसकी पुष्टि की। 2012 में गृह युद्ध को कवर करने के दौरान गायब हुए टेक्सास के एक पत्रकार टाइस की रिहाई ट्रम्प विदेश नीति की एक महत्वपूर्ण जीत होगी। ट्रम्प प्रशासन ने अब तक विदेशों में गिरफ्तार कई अमेरिकियों को मुक्त कराया है। लापता पत्रकार के माता-पिता, मार्क और डेब्रा टाइस ने भी सीधी बातचीत की मांग की थी।

सीरियाई सरकार ने सार्वजनिक रूप से उनके ठिकाने के बारे में कुछ भी जानकारी होने से इंकार किया है। दूसरा लापता अमेरिकी 62 वर्षीय मज्द कमलमाज हैं जो वर्जीनिया के मनोचिकित्सक हैं जो 2017 में लापता हो गए थे और माना जाता है कि वह सीरियाई सरकार की जेल में हैं।