Pakistan is attempting to get out of FATF's grey list, now Imran Khan government is preparing to make new rules
File

    लाहौर: पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Prime Minister Imran Khan) ने पीएमएल-एन (PML-N) के अध्यक्ष तथा पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) के भाई शहबाज शरीफ (Shahbaz Sharif) द्वारा दायर मानहानि मामले (Defamations Case) में चौथी बार अपना वकील (Advocate) बदला है। खान ने अपनी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के सांसद सैयद अली जफर को इस मामले में अपना बचाव करने के लिये नया वकील नियुक्त किया है।

    जफर के सहयोगी ने सोमवार को लाहौर की जिला एवं सत्र अदालत में पेश होकर खान की ओर से पॉवर ऑफ अटॉर्नी दाखिल की। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश यासिर हयात ने जफर को छह अप्रैल को अगली सुनवाई में व्यक्तिगत रूप से अपनी ‘पावर ऑफ अटॉर्नी’ दाखिल करने का निर्देश दिया। प्रधानमंत्री खान ने अप्रैल 2017 में आरोप लगाया था कि शहबाज ने उन्हें एक दोस्त के जरिये, नवाज शरीफ के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में चल रहे पनामा पेपर मामले को वापस लेने के लिए 6.1 करोड़ डॉलर की पेशकश की थी।

    पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के सुप्रीमो शरीफ फिलहाल लंदन में हैं। उन्हें पनामा पेपर मामले में 2017 में उच्चतम न्यायालय ने प्रधानमंत्री पद के लिए अयोग्य करार दिया था।