Preparations for Nirav Modi's extradition initiated, a special cell ready in Arthur Road Jail
File Photo

    लंदन: पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank) से करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी के मामले में वांछित हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) के भारत (India) प्रत्यर्पण (Extradition) करने पर यूके के कोर्ट ने गुरुवार को मंज़ूरी दे दी है। नीरव मोदी फिलहाल लंदन (London) की एक जेल (Jail) में बंद है। यूके के कोर्ट के इस फैसले के बाद हीरा कारोबारी नीरव मोदी को भारत लाने का रास्ता साफ़ हो गया है। नीरव मोदी पर कोर्ट के इस फैसले के बाद उस पर भारत की अदालत में जल्द आगे केस चलाए जाने की उम्मीद है।

    एक रिपोर्ट के मुताबिक, मजिस्ट्रेट की अदालत के फैसले को इसके बाद ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल के पास हस्ताक्षर के लिये भेजा जाएगा। हालांकि फैसले के आधार पर दोनों में से किसी एक पक्ष के उच्च न्यायालय में अपनी करने की भी संभावना है।

    नीरव मोदी को प्रत्यर्पण वारंट पर 19 मार्च 2019 को गिरफ्तार किया गया था और प्रत्यर्पण मामले के सिलसिले में हुई कई सुनवाइयों के दौरान वह वॉन्ड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के जरिये शामिल हुआ था।

    जमानत को लेकर उसके कई प्रयास मजिस्ट्रेट अदालत और उच्च न्यायालय में खारिज हो चुके हैं क्योंकि उसके फरार होने का जोखिम है। उसे भारत में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दर्ज मामलों के तहत आपराधिक कार्यवाही का सामना करना होगा। इसके अलावा कुछ अन्य मामले भी उसके खिलाफ भारत में दर्ज हैं।