Rishi Sunak presents budget, allocated millions of pounds to build counter-terrorism operations center in Britain

लंदन. ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनक (UK Chancellor Rishi Sunak) ने बुधवार को निवेश, व्यापार, बुनियादी ढांचा, सतत वित्त और अनुसंधान के क्षेत्र में ब्रिटेन-भारत की महत्वकांक्षी नई पहल की सराहना की। उन्होंने ब्रिटेन के पूंजी बाजार की भारत के बुनियादी ढांचा विकास में भूमिका को भी रेखांकित किया। भारतीय मूल के मंत्री ने ब्रिटेन-भारत 10वीं आर्थिक और वित्तीय वार्ता के दौरान अपने संबोधन में कहा कि बुनियादी ढांचा नीति और वित्त पोषण पर नई भागीदारी भारत की महत्वकांक्षी राष्ट्रीय बुनियादी ढांचा पाइपलाइन (एनआई) में निजी पूंजी प्रवाह में मददगार होगी।

उन्होंने कहा कि नया दीर्घकालिक वित्त मंच दोनों देशों के बीच वित्तीय भागीदारी को मजबूत बनाएगा। उच्च स्तरीय कार्यबल के अनुसार भारत के एनआईपी ने 2020-25 के दौरान ढांचागत क्षेत्र में 1,11,000 अरब डॉलर के निवेश का लक्ष्य रखा है। सुनक ने वीडियो कांफ्रेन्स के जरिये शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘दीर्घकालिक वित्त ब्रिटेन-भारत संबंधों के लिये महत्वपूर्ण अवसर प्रदान करता है। अगले 20 साल में, भारत को टिकाऊ ढांचागत क्षेत्रों में 4,500 अरब डॉलर के निवेश की जरूरत का अनुमान है। ब्रिटेन का पूंजी बाजार मजबूत है जो उस जरूरत को पूरा करने के लिये निजी निवेश उपलब्ध कराने को लेकर बड़ी भूमिका निभा सकता है।”(एजेंसी)