यमन के प्रवासी हिरासत केंद्र में लगी आग, 8 की मौत, 170 घायल

    काहिरा. यमन की राजधानी में प्रवासियों के लिए बने एक हिरासत केंद्र (Yemeni Migrant Detention Center) में आग (Fire) लगने की घटना में आठ लोगों की मौत हो गयी और 170 से अधिक लोग घायल हो गये। संयुक्त राष्ट्र की प्रवासियों से संबंधित एजेंसी ने रविवार को इस बारे में बताया। प्रवासियों के लिए अंतरराष्ट्रीय संगठन (आईओएम)(International Organization) (IOM)ने बताया कि सना में स्थित हिरासत केंद्र में आग लगने के कारण का पता लगाया जा रहा है।

    संगठन ने बताया कि 90 से अधिक घायलों की हालत गंभीर है। आईओएम ने बताया कि हिरासत केंद्र का संचालन हूती विद्रोही करते हैं जिन्होंने छह साल पहले यमन में संघर्ष शुरू होने के बाद से क्षेत्र पर कब्जा कर रखा है। हूतियों ने कहा कि वे हिरासत केंद्र में आग लगने के कारण का पता लगा रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र की एक अधिकारी ने बताया कि मुख्य इमारत के पास स्थित एक अन्य स्थान पर आग लग गयी, जहां 700 से अधिक प्रवासी रहते हैं। अधिकारी ने बताया कि अधिकतर प्रवासियों को सऊदी अरब में प्रवेश की कोशिश के दौरान सादा के उत्तरी प्रांत में गिरफ्तार किया गया था।