Google

वाशिंगटन. गूगल ने कहा कि उसने अमेरिका में नवम्बर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव को लेकर गलत जानकारी देने वाले एवं भ्रामक विज्ञापनों को अपने मंच से हटा दिया है। इन विज्ञापनों में से कुछ ने मतदान के लिए पंजीकरण करने के लिए लोगों से शुल्क लिया। वहीं, कुछ ने विपणन संबंधी लक्ष्य पूरा करने के लिए लोगों की निजी जानकारियां हासिल की। गैर-लाभकारी टेक कम्पनी ‘टेक ट्रांसपरेंसी प्रोजेक्ट’ ने इन विज्ञापनों की पहचान की है।

 

संगठन ने पाया कि ‘‘मतदान के लिए पंजीकरण”, ‘‘मेल द्वारा मतदान” और ‘‘ मेरा मतदान स्थल कहां हैं” जैसे विज्ञापन लिंक उन वेबसाइट द्वारा निर्मित किए गए हैं, जो मतदान पंजीकरण के लिए शुल्क ले रहे हैं, लोगों की निजी जानकारियां हासिल कर रहें हैं या लोगों के ब्राउजर में अवांछित सॉफ्टवेयर डाल रहे हैं। गूगल ने कहा कि उसके मंच पर ऐसे विज्ञापनों को प्रतिबंधित कर दिया गया है। गूगल की प्रवक्ता शैर्लेोट सिम्थ ने कहा, ‘‘ हम अपने मंच पर ग्राहकों को ऐसे अनुचित व्यवहार से बचाने को प्रतिबद्ध हैं। विशेषकर जब बात चुनाव से जुड़ी जानकारियों की हो।” (एजेंसी)