संरा महासभा के डिजिटल संस्करण में रिकॉर्ड संख्या में विश्व नेता लेंगे हिस्साः गुतारेस

संयुक्त राष्ट्र. संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुतारेस (UN chief Antonio Guterres) ने बताया है कि संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) में इस साल महामारी की वजह से विभिन्न देशों के नेताओं के पहले से रिकॉर्ड बयानों का प्रसारण किया जाएगा। इस डिजिटल संस्करण में रिकॉर्ड संख्या में राष्ट्र और सरकारों के प्रमुख हिस्सा लेंगे। संयुक्त राष्ट्र के 75 वर्ष के इतिहास में पहली बार राष्ट्र और सरकारों के प्रमुख कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus)के कारण महासभा के सत्र के लिए न्यूयॉर्क नहीं जाएंगे बल्कि, विभिन्न सम्मेलनों और सत्रों के लिए पहले से रिकॉर्ड किए गए बयानों को भेजेंगे और इन्हें महासभा हॉल में प्रसारित किया जाएगा।

आम चर्चा 22 से 29 सितंबर तक चलेगी, जिसमें 119 राष्ट्र प्रमुख और सरकारों के 54 प्रमुख पहले से ही रिकॉर्ड किए गए बयानों के जरिए हिस्सा लेंगे। वहीं, व्यक्तिगत रूप से मौजूद रहकर आम चर्चा में 70 से 80 के बीच राष्ट्र प्रमुख हिस्सा लेते थे। गुतारेस ने बताया कि इस साल की आम चर्चा में अब तक सबसे ज्यादा राष्ट्र और सरकार प्रमुख हिस्सा लेंगे। उनके बयानों को उनके देश में रिकॉर्ड किया जाएगा और स्थायी प्रतिनिधियों की मौजूदगी में महासभा कक्ष में प्रसारित किया जाएगा।

गुतारेस ने कहा, ” डिजिटल हिस्सेदारी का मतलब हो सकता है कि रिकॉर्ड संख्या में राष्ट्र और सरकार के प्रमुख हिस्सा लें, लेकिन इसके ऑनलाइन होने से निस्संदेह नई चुनौतियां होंगी।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र और आम चर्चा की 75वीं सालगिरह के मौके पर अगले हफ्ते उच्च स्तरीय बैठक को संबोधित करेंगे। संयुक्त राष्ट्र की 75 वीं सालगिरह को मनाने के लिये उच्चस्तरीय बैठक के साथ महासभा का वार्षिक सत्र 21 सितंबर को शुरू होगा। इस मौके पर संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्य देश ‘जो भविष्य हम चाहते हैं, जिस संयुक्त राष्ट्र की हमें जरूरत हैः बहुपक्षवाद के प्रति हमारी सामूहिक प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है’ के विषय पर अंतरसरकारी प्रक्रिया के जरिए हुई बातचीत के तहत अग्रगामी राजनीतिक घोषणा को अपनाएंगे।

मोदी 26 सितंबर को अपने पहले से रिकॉर्ड किए गए बयान के जरिए इस कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। इन दो उच्च स्तरीय बैठकों में मोदी जो नजरिया रखेंगे, उसे बारीकी से देखा जाएगा, क्योंकि यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के तौर पर निर्वाचित भारत का दो साल का कार्यकाल एक जनवरी 2021 से शुरू होने से पहले हो रहा है। ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो आम चर्चा के पहले वक्ता होंगे। अमेरिका परंपरागत रूप से आम चर्चा के शुरुआती दिन का दूसरा वक्ता होता है और अगर ट्रंप न्यूयॉर्क जाते हैं तो वह व्यक्तिगत रूप से बैठक को संबोधित करेंगे और यह उनका राष्ट्रपति के पहले कार्यकाल का आखिरी संबोधन होगा।(एजेंसी)