अब अंतर-अफगानिस्तान वार्ता पर ध्यान केन्द्रित कर रहे हैं: खलीलजाद

वाशिंगटन. अफगानिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष दूत जलमी खलीलजाद ने कहा कि अमेरिका अब अंतर-अफगानिस्तान (देश के भीतर) बातचीत पर ध्यान केन्द्रित कर रहा है। साथ ही उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि देश की सरकार और तालिबान के बीच राजनीतिक समझौते के खाके पर राजी होना युद्ध से जर्जर राष्ट्र में शांति के लिए ‘‘बेहद महत्वपूर्ण” है। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी और उनके प्रतिद्वंद्वी के बीच सत्ता की साझेदारी के एक समझौते पर हस्ताक्षर करने और दशकों पुराने संघर्ष को समाप्त करने के लिए अंतरदेशीय वार्ता की राह खुलने के बाद खलीलजाद का यह बयान आया है। खलीलजाद ने कहा, ‘‘ अब हम अंतर-अफगानिस्तान वार्ता पर ध्यान केन्द्रित कर रहे हैं, जिसमें अफगानिस्तान के इस्लामी गणराज्य और कुछ सप्ताह पहले गठित किए गए समावेशी दल और तालिबान के प्रतिनिधियों का राजनीतिक समझौते के खाके पर राजी होना अफगानिस्तान में शांति के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।”

खलीलजाद ने पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा कि अफगानिस्तान में राजनीतिक संकट के कारण दो राष्ट्रपति बने, यह मामला अब सुलझ गया है। दोनों नेता शांति से साथ चलने को राजी हो गए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ हम उनके साथ चर्चा कर रहे हैं कि कि अंतर-अफगानिस्तान वार्ता कब होगी, कहां होगी, अंतरराष्ट्रीय समुदाय क्या भूमिका निभाएगा और वे किस तरह के मुद्दे हैं जिन पर हमारा ध्यान केन्द्रित करना होगा।” खलीलजाद ने कहा, ‘‘ हम अच्छी स्थिति में हैं। आगे का रास्ता चुनौती भरा है लेकिन हम इस बात को लेकर सकारात्मक हैं कि अंतत: हम अंतर-अफगानिस्तान वार्ता शुरू करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं।” उन्होंने कहा कि अंतर-अफगानिस्तान वार्ता के लिए तारीख और जगह अभी तय नहीं की गई है।(एजेंसी)