दुनिया में 7 नहीं, 8 महाद्वीप, वैज्ञानिकों ने बनाया नए महाद्वीप का नक्शा

वाशिंगटन. जियोग्राफी में हमें पढ़ाया जाता है कि दुनिया में 7 महाद्वीप हैं जिसमें अन्टार्टिका, एशिया, आस्ट्रेलिया, अफ़्रीका, यूरोप, दक्षिणी अमेरिका और उत्तरी अमेरिका शामिल हैं. वहीं अब एक शोध में खुलासा हुआ है कि दुनिया में 7 नहीं बल्कि 8 महाद्वीप हैं लेकिन 8वां महाद्वीप समुद्र में समा गया है. इसका नाम जीलैंडिया (Te Riu-a-Māui Zealandia) है. यह महाद्वीप आस्ट्रेलिया से दक्षिण पूर्व की ओर न्यूजीलैंड के ऊपर है. अब वैज्ञानिकों ने इसका नक्शा बनाया है. यह पानी से ढका है. 

नक्शे से पता चला कि यह महाद्वीप 50 लाख वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है. यानी यह महाद्वीप भारत के क्षेत्र फल से 17 लाख वर्ग किलोमीटर बड़ा है. यह ऑस्ट्रेलिया के 2/3 के बराबर है. वैज्ञानिकों ने बताया कि यह महाद्वीप करीब 2.30 करोड़ साल पहले समुद्र में डूब गया था. जीलैंडिया महाद्वीप गोंडवानालैंड से 7.90 करोड़ साल पहले टूटा था. इसके बारे में 3 साल पहले पता चला था. तब से इस पर शोध जारी है.

जीलैंडिया का अपना भूशास्त्र है और इसका तल, समुद्री तल से कहीं ज्यादा मोटा और कठोर है. इस ‘महाद्वीप’ का 94 प्रतिशत हिस्सा जल से ढका हुआ है. यह तीन बड़े भूभागों से मिलकर बना है. इसमें न्यू जीलैंड का उत्तरी और दक्षिणी द्वीप और न्यू कैलिडोनिया का उत्तरी हिस्सा शामिल है.

विश्व के बारे में नक्शा देता है जानकारी

अब न्यूजीलैंड के वैज्ञानिकों ने इसका टेक्टोनिक और बैथीमेट्रिक नक्शा बनाया है ताकि इससे संबंधित भूकंप और समुद्र की जानकारियों के बारे में पता चल सके. जीएनएस साइंस के भूगर्भवैज्ञानिक निक मोरटाइमर ने कहा कि यह नक्शा हमें विश्व के बारे में जानकारी देता है. यह बहुत ही खास है. यह एक बड़ी उपलब्धि है.

बॉल्स पिरामिड नामक चट्टान निकली है बाहर

निक के अनुसार 8वें महाद्वीप की चर्चा वर्ष 1995 में शुरू हुई लेकिन इसकी खोज साल 2017 तक चली और फिर इस गायब महाद्वीप को माना गया. जीलैंडिया प्रशांत महासागर के अंदर 3800 फीट नीचे है. नये नक्शे के अनुसार यहां कहीं बहुत ऊंची जमीन है तो कहीं बहुत ऊंचा पहाड़ है तो कहीं गहरी घाटी. यूं तो जीलैंडिया का पूरा हिस्सा समुद्र के भीतर समा गया है लेकिन लॉर्ड होवे आईलैंड के पास बॉल्स पिरामिड नामक चट्टान समुद्र से बाहर निकली है. इसी से पता चलता है कि समुद्र के भीतर एक महाद्वीप है.

जीलैंडिया है नाम

94 प्रतिशत हिस्सा जल से ढका 

50 लाख वर्ग किमी है क्षेत्रफल

2.30 करोड़ वर्ष पहले डूब गया था समुद्र में

17 लाख वर्ग किमी बड़ा है भारत के क्षेत्रफल से

7.90 करोड़ वर्ष पहले टूटा था गोंडवाना लैंड से

1995 में शुरू हुई थी चर्चा

2017 तक चली खोज

3,800 फीट नीचे है प्रशांत महासागर के भीतर 

7 महाद्वीप

अन्टार्टिका, एशिया, आस्ट्रेलिया, अफ़्रीका, यूरोप, दक्षिणी अमेरिका और उत्तरी अमेरिका शामिल हैं. (एजेंसी)