iran-attack

Loading


दमिश्क (सीरिया):
सीरिया में ईरान के वाणिज्य दूतावास पर इज़राइली हमले में ईरान के दो जनरल और पांच अधिकारी मारे गए हैं। ईरानी अधिकारियों ने यह जानकारी दी। यह हमला ऐसे समय में हुआ है जब इज़राइल द्वारा ईरान के सैन्य अधिकारियों को निशाना बनाने की घटनाएं बढ़ी हैं। दरअसल, ईरान गाज़ा और लेबनान में इज़राइल से लड़ने वाले चरमपंथी समूहों का समर्थन करता है। गाज़ा में करीब छह महीने पहले युद्ध शुरू होने के बाद से लेबनान में ईरान समर्थित हिज़्बुल्ला के चरमंपथियों तथा इज़राइल के बीच संघर्ष बढ़े हैं। गाज़ा पर शासन करने वाले हमास ने सात अक्टूबर को इज़राइल पर हमला किया था। इस समूह को भी ईरान का समर्थन हासिल है। इज़राइल ईरानी ठिकानों पर हमले को बमुश्किल ही स्वीकार करता है। उसने सीरिया में हुए इस हमले पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

हालांकि सेना के एक प्रवक्ता ने दक्षिण इज़राइल में एक नौसेना अड्डे पर सोमवार तड़के हुए ड्रोन हमले के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया। यमन में ईरान समर्थित हूती विद्रोही भी इज़राइल की ओर लंबी दूरी की मिसाइलें दाग रहे हैं। ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड के मुताबिक, सोमवार को सीरिया में किए गए हवाई हमले में जनरल मोहम्मद रज़ा ज़ाहेदी की मौत हो गई, जिन्होंने 2016 तक लेबनान और सीरिया में विशिष्ट कुद्स फोर्स का नेतृत्व किया था। इस हमले में जनरल मोहम्मद हादी हजरियाहिमी तथा पांच अन्य अधिकारियों की भी मौत हुई है।

हिज़्बुल्ला के एक प्रवक्ता ने ‘द एसोसिएटेड प्रेस’ से कहा कि चरमपंथी समूह का सदस्य हुसैन युसूफ भी हमले में मारा गया। ब्रिटेन स्थित ‘सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यमून राइट्स’ ने बताया कि हमले में दो सीरियाई भी मारे गए हैं। वाणिज्य दूतावास की सुरक्षा में तैनात दो पुलिस अधिकारी हमले में जख्मी हो गए हैं तथा मलबे में अब भी शवों की तलाश की जा रही है। सीरिया की सरकारी समाचार एजेंसी के मुताबिक, हमले में ईरानी वाणिज्य दूतावास की इमारत पूरी तरह से नष्ट हो गई है जबकि इसका मुख्य दूतावास भवन सही सलामत है।

ईरानी राजदूत हुसैन अकबरी ने हमले का बदला “इसी तीव्रता और कठोरता से” लेने का संकल्प लिया। फलस्तीन के हमास और इस्लामिक जिहाद ने इज़राइल पर गाज़ा के संघर्ष को व्यापक करने की कोशिश का आरोप लगाया। ईरानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नासिर कनानी ने अन्य देशों से हमले की निंदा करने का आह्वान किया। इज़राइली सेना ने कहा कि मंगलवार तड़के सीरिया की ओर से इज़राइल पर दागे गए कुछ गोले लक्ष्य पर पहुंचने से पहले ही नष्ट हो गए।