China declares racial discrimination in America's decision to cancel student visas

    चीन : चीन (China) के रक्षा मंत्री ( Defense Minister) ने रविवार को अमेरिका (America ) पर एशिया प्रशांत क्षेत्र के देशों को बीजिंग के खिलाफ करने के लिये उनके समर्थन को हथियाने (हाईजैक करने) का प्रयास करने का आरोप लगाया और कहा कि वह ‘बहुपक्षवाद की आड़ में’ अपने हितों को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। चीन के रक्षा मंत्री जनरल वेई फेंगे ने अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन पर बरसते हुये, एक दिन पहले शांगरीला डायलॉग में लगाये गये उनके ‘बदनाम करने वाले आरोपों’ को खारिज कर दिया। 

    इन आरोपों में ऑस्टिन ने कहा था कि चीन स्व-शासित ताइवान द्वीप पर अपने दावे और अपनी ‘अस्थिरता वाली सैन्य गतिविधि’ से क्षेत्र में अस्थिरता पैदा कर रहा है। ऑस्टिन ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र के देशों के साथ बहुपक्षीय साझेदारी की आवश्यकता पर जोर दिया, जिसके बारे में चीनी रक्षा मंत्री ने कहा कि यह चीन को अलग-थलग करने का एक प्रयास है। फेंगे ने कहा, ‘किसी भी देश को बहुपक्षवाद की आड़ में अपनी इच्छा दूसरों पर नहीं थोपनी चाहिए या दूसरों पर रौब नहीं जमाना चाहिए।’ 

    उन्होंन कहा, ‘यह रणनीति हमारे क्षेत्र के देशों का समर्थन हथियारे और एक विशिष्ट देश को निशाना बनाने लिए स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र के नाम पर एक विशेष छोटा समूह बनाने का प्रयास है। यह दूसरों को रोकने और उन्हें घेरने के लिए संघर्ष और टकराव पैदा करने की रणनीति है।’ चीन अपनी सेना का तेजी से आधुनिकीकरण कर रहा है और इस क्षेत्र में अपने प्रभाव और महत्वाकांक्षाओं का विस्तार करना चाहता है। चीन ने हाल ही में सोलोमन द्वीप समूह के साथ एक सुरक्षा समझौते पर हस्ताक्षर किया है। इससे कई लोगों को इस बात डर है कि प्रशांत क्षेत्र में चीन अपने नौसैनिक अड्डे बना सकता है। (एजेंसी)