China again changed its military chief along the border with India
File

    नई दिल्ली: चीन (China) अक्सर अन्य देशों के खिलाफ साजिश रचता रहा है। इसी कड़ी में पेंटागन (Pentagon) की एक नई रिपोर्ट से खलबली मच गई है। इस रिपोर्ट की मानें तो पूरी दुनिया को अंधेरे में रखकर चीन अपने परमाणु ताकत को लगातार बढ़ा रहा है। जिसके तहत पीआरसी साल 2030 तक एक हजार परमाणु हथियारों का टारगेट हासिल कर सकता है। 

    ज्ञात हो कि पेंटागन की रिपोर्ट के बाद खलबली मच गई है। यह रिपोर्ट साबित चीन के खौफनाक इरादों को बेनकाब करने के लिए काफी है। पिछली दफा जो रिपोर्ट सामने आई थी उसके अनुसार इस साल के अंत तक वह चीन के हथियारों की संख्या लगभग 400 के करीब पहुंच सकती है। 

    गौर हो कि इससे पहले साल 2020 में अमेरिका रक्षा विभाग ने अंदेशा जताया था कि चीन के पास 2030 तक 400 परमाणु हथियार होंगे। लेकिन बुधवार को जो रिपोर्ट सामने आई उसके अनुसार चीन ने बड़ी ही तेजी से परमाणु हथियार पर काम जारी रखा है। साथ ही ड्रैगन की पूरी तैयारी है कि वह जल्द ही अमेरिका के बराबर पहुंच जाए। 

    रिपोर्ट के आधार पर कहा जा रहा है कि छह साल के भीतर चीन की कोशिश है कि अपने परमाणु हथियारों की संख्या 700 तक कर दे और साल 2030 तक यह नंबर एक हजार से अधिक जा सकता है। इस रिपोर्ट में अभी तक यह नहीं बताया गया है कि चीन के पास कितने हथियार हैं। 

    उल्लेखनीय है कि अमेरिका के पास मौजूदा समय में तीन हजार 750 परमाणु हथियार हैं और इसकी बढ़ाने की योजना नहीं है। वैसे पेंटागन की यह रिपोर्ट दिसंबर 2020 तक की जुटाई गई इनफार्मेशन के आधार पर है।