कैलिफोर्निया विमान हादसे में भारतीय मूल के डॉक्टर समेत 2 लोगों की मौत

    न्यूयॉर्क. अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य में एक विमान दुर्घटना में भारतीय मूल के हृदय रोग विशेषज्ञ समेत दो लोगों की मौत हो गई और दुर्घटना के कारण पास के मकानों में आग लग गई जिससे काफी क्षति हुई। मीडिया में आई खबरों में यह जानकारी दी गई। अरिजोना के युमा रीजनल मेडिकल सेंटर (वाईआरएमसी) के अनुसार, दुर्घटनाग्रस्त हुआ दो इंजन का यह विमान संस्थान में कार्यरत डॉ. सुगाता दास का ही था। सोमवार को हुए हादसे में दास की भी मौत हो गई है। सीबीएस-एनबीसी से संबंद्ध टीवी स्टेशन ने बताया कि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि हादसे के वक्त दास विमान चला रहे थे या नहीं।

    वाईआरएमसी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी भरत मागू ने एक बयान में कहा, ‘‘स्थानीय हृदय रोग विशेषज्ञ सुगाता दास के विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर सुनकर हमें गहरा दुख हुआ है। विमान सैंटी (कैलिफोर्निया) के पास दुर्घटनाग्रस्त हुआ।” मागू ने कहा, ‘‘वह एक बेहतरीन हृदय रोग विशेषज्ञ और परिवार के प्रति समर्पित व्यक्ति थे। इस मुश्किल वक्त में हम उनके परिवार, मित्रों और सहयोगियों के प्रति संवेदना जताते हैं।” सैंटी में संताना हाई स्कूल के पास हुए हादसे के बाद आग लगने से दो मकान जलकर खाक हो गए और पांच अन्य मकानों एवं कई वाहनों को क्षति पहुंची। हालांकि आग अन्य मकानों तक फैलती, उससे पहले ही दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पा लिया।

    हादसे में मारा गया अन्य व्यक्ति एक यूपीएस कर्मी था जो घटना के वक्त जमीन पर काम कर रहा था। यूपीएस ने यह पुष्टि की है कि विमान हादसे में उसके एक कर्मी की मौत हो गई। एबीसी से संबद्ध केएक्सटीवी ने यूपीएस के बयान के हवाले से बताया, ‘‘हम अपने एक कर्मी की मृत्यु की खबर से दुखी हैं और उनके परिवार एवं मित्रों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करते हैं। हादसे के शिकार हुए अन्य व्यक्तियों के परिवार एवं मित्रों के प्रति भी हम संवेदना जताते हैं।”

    खबर के अनुसार, दोपहर करीब साढ़े 12 बजे अधिकारियों को ग्रीनकैसल स्ट्रीट के पास के क्षेत्र में विमान हादसे की सूचना मिली। संघीय विमानन प्रशासन (एफएए) के अनुसार यह विमान दो इंजन वाला सेसना सी 340 था जो दोपहर करीब सवा 12 बजे दुर्घटनाग्रस्त हुआ। एफएए के अनुसार, ‘‘विमान में कितने लोग सवार थे, इस बारे में अभी ज्ञात नहीं है।” सेसना सी 340 विमान आमतौर पर व्यवसाय के लिए उपयोग किया जाता है। विमान में छह यात्रियों के बैठने की क्षमता है, जिसमें दो सीटें आगे और दो पीछे होती हैं।

    संस्थान की वेबसाइट के अनुसार, बंगाली परिवार में जन्मे दास पुणे में पले-बढ़े। वह ‘‘पावर ऑफ लव फाउंडेशन” के निदेशक भी थे। यह एक अमेरिकी गैर-लाभकारी संगठन है जो विदेशों में एड्स और एचआईवी से संक्रमित या प्रभावित महिलाओं और बच्चों की मदद करता है। वेबसाइट पर बताया गया है कि दास के दो बेटे हैं और वे सैन डिएगो में रहते थे। वह दो इंजन वाले सेसना 340 के मालिक थे और एक प्रशिक्षित पायलट थे, जिन्होंने अपने घर और युमा के बीच उड़ान भरी थी।(एजेंसी)