ISIS claimed responsibility for suicide attack on Shia mosque in Afghanistan, more than 40 killed, many injured
Representative Photo:Twitter

    काबुल: दक्षिण अफगानिस्तान (Afghanistan) की एक शिया मस्जिद (Shia Mosque) में जुमे की नमाज़ (Friday Prayers) के दौरान आत्मघाती हमलावर (Suicide Bombings) ने विस्फोट (Explosion) कर दिया। ब्लास्ट (Blast) में अब तक 40 से लोगों की मौत की खबर है और 70 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। इस बीच न्यूज़ एजेंसी AFP ने बताया है कि, आतंकी संघटन आईएसआईएस ने इस आत्मघाती हमले की ज़िम्मेदारी ली है।  

    रिपोर्ट्स के अनुसार, अफगानिस्तान में जुमे की नमाज़ की वजह से मस्जिद में भीड़ काफी ज्यादा थी। कंधार प्रांत की फातिमिया मस्जिद में हुए यह शक्तिशाली ब्लास्ट ब्लास्ट हुआ शुक्रवार को हुआ था।

    इससे करीब हफ्ते भर पहले आईएसआईएस से संबद्ध स्थानीय संगठन ने उत्तरी प्रांत की एक शिया मस्जिद में बम विस्फोट किया था, जिसमें 46 लोगों की मौत हुई थी। मुर्तज़ा नाम के चश्मदीद ने बताया कि, वह हमले के वक्त मस्जिद के अंदर ही था। उसने बताया कि, आत्मघाती हमलावरों ने मस्जिद पर हमला किया। उन्होंने मस्जिद के अंदर खुद को उड़ा लिया। 

    उसने बताया कि, सैकड़ो लोग मस्जिद में जुमे की नमाज़ अदा करते हैं। एक अन्य चश्मदीद जो मस्जिद की सुरक्षा का प्रभारी है, ने कहा कि उसने दो हमलावरों को देखा है। उसने कहा कि, हमलावर ने मस्जिद के दरवाज़े पर खुद को उड़ा लिया जबकि दूसरा हमलावर पहले ही मस्जिद के अंदर नमाज़ियों के बीच पहुंच चुका था। उसने बताया कि मस्जिद के सुरक्षा कर्मी ने एक अन्य संदिग्ध हमलावर को गोली मारकर ढेर कर दिया। घटना की वीडियो फुटेज में यहां-वहां शव पड़े दिखाई दे रहे हैं तथा कालीन पर खून पड़ा है और लोग इधर-उधर भाग रहे हैं और चिल्ला रहे हैं। 

    एक रिपोर्ट के अनुसार, आईएस समूह तालिबान के शासन और शिया मुस्लिम समुदाय का विरोधी है। अमेरिकी फौजों की वापसी के बीच अगस्त में तालिबान के सत्ता पर काबिज़ होने के बाद आईएस ने कई विस्फोटों की जिम्मेदारी ली है।