vaccination
Representative Image

काठमांडू: नेपाल (Nepal) ने अपनी 20 प्रतिशत आबादी के लिये कोविड-19 (Covid-19) का टीका (Vaccine) हासिल करने में भारत (India) से मदद मांगी है। मीडिया में बुधवार को आई खबर में यह जानकारी देते हुए बताया गया कि हिमालयी राष्ट्र में इस महामारी से अब तक 1800 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है जबकि 2.6 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं।

काठमांडू पोस्ट की खबर के मुताबिक नेपाल सरकार (Nepal Government) ने अपनी करीब 20 प्रतिशत आबादी को टीका देने के लिये कोविड-19 का टीका खरीदने के लिये भारत सरकार (Indian Government) से अनुरोध किया है। अखबार ने कहा कि भारत से प्राप्त टीकों के लिये नेपाल भुगतान करेगा।

भारत में ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका (Oxford AstraZeneca) और स्वदेश में विकसित भारत बायोटेक (BioTech) के टीके तीसरे चरण के परीक्षण के अंतिम दौर में हैं। अखबार ने स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) के अधिकारियों के हवाले से कहा, “जल्द से जल्द टीके हासिल करने के लिये सरकार ने भारत की सरकार से 20 प्रतिशत नेपालियों के लिये टीके खरीदने का अनुरोध किया है।”

नेपाल अन्य देशों में बने टीके हासिल करने का भी प्रयास कर रहा है। नेपाल की कोविड-19 टीका परामर्श समिति के समन्वयक डॉ. श्याम राज उप्रेती ने कहा, “विभिन्न देशों और कंपनियों के करीब 15 टीके परीक्षण के तीसरे चरण में हैं। सरकार ने मदद के लिये अधिकतर देशों और खरीद के लिये कंपनियों को पत्र लिखा है।”

खबर में कहा गया कि नेपाल को जल्द टीके की उपलब्धता के लिये सरकार ने पिछले महीने भारत (India),चीन (China), रूस (Russia), ब्रिटेन (Britain) और अमेरिका (America) को राजनयिक नोट भेजे थे। कोरोना वायरस (Corona Virus) के खिलाफ इन देशों में टीके या तो पूरी तरह तैयार हो गए हैं या तीसरे चरण में पूर्ण होने के करीब है। भारत ने पिछले महीने नेपाल के लोगों को आश्वस्त किया था कि एक बार कोविड-19 के खिलाफ टीका बनने के बाद उसकी जरूरतें पूरी करना नयी दिल्ली की प्राथमिकताओं में शामिल है।