Ram Mandir Pakistan

Loading

नवभारत डिजिटल डेस्क: पाकिस्तान (Pakistan) में हिंदू अल्पसंख्यक में आते हैं और वहां पर उनकी कैसी हालत है ये पूरी दुनिया जानती है। वहां पर प्राचीन मंदिरों का दशा कैसी है इससे भी पूरी दुनिया भलीभांति परचित है। इन सभी के बीच एक ऐसी खबर सामने आ रही है जो थोड़ी अच्छी लगी। दरअसल पाकिस्तान के सिंध प्रांत के इस्लामकोट में करीब 200 साल पुराना राम मंदिर (Ram Mandir) है। इस मंदिर में बड़ी संख्या में हिंदू भक्त पूजा पाठ करने आते हैं, लेकिन मंदिर काफी पुराना होने के कारण इसकी हालत अब जर्जर हो गई है। यही कारण है अब इस मंदिर को दुरुस्त करने का काम शुरू कर दिया गया है, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि पाकिस्तान में इस मंदिर को बनाने वाले लोग सभी मुसलमान हैं।

मुसलमान बना रहे हैं मंदिर
माखन राम जयपाल जो पाकिस्तान के डेरा रहीम यार खान के रहने वाले हैं। उन्होंने अपने एक यूट्यूब वीडियो में इस मंदिर को दिखाया और इसके बारे में जानकारी दी है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि मंदिर तकरीबन दो सौ साल पुराना है और यहां बड़ी संख्या में हिन्दू पूजा-पाठ करने आते हैं। मंदिर की दीवारें भी कमजोर हो गई है और मंदिर के रिनोवेशन का काम शुरू हो गया है। माखन राम जयपाल ने बताया कि मंदिर की नई इमारत को बाबर और जुल्फिकार नाम के दो मुस्लिम युवक तैयार कर रहे हैं। इसके अलावा मंदिर में जीतने मजदूर हैं वो सभी मुसलमान हैं।

6 महीनों में पूरा होगा मंदिर निर्माण
माखन राम जयपाल ने बताया है कि इस मंदिर का काम तकरीबन 6 महीने में पूरा हो जाएगा। ऐसा बताया जा रहा है। जिस मंदिर का निर्माण फिर से किया जा रहा है भगवान राम, लक्ष्मण और सीता की मूर्ति स्थापित है। इनके अलावा इस मंदिर भगवान शिव की भी मूर्ति है।  

पाकिस्तान में हिंदू मंदिरों की स्थिति दयनीय
पाकिस्तान में हिंदू मंदिरों की स्थिति बेहद खराब है। जिसका सबसे बड़ा कारण है वहां रहने वाले कट्टरपंथी जो मौका मिलने पर मंदिरों पर हमला करते हैं। वहां के मंदिरों में तोड़फोड़ और हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियों को खंडित कर देते हैं। पिछले कुछ सालों में मंदिरों में तोड़फोड़ की घटनाएं सामने आई हैं। पाकिस्तान की सरकार इससे भलीभांति परिचित है, लेकिन उसके बाद भी उनपर लगाम नहीं लगा पा रही है। एक रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान तकरीबन 75 लाख से ज्यादा हिंदू रहते हैं। जिसमें अधिकांश आबादी सिंध में बसी है।