Strict covid restrictions in China leads to confusion over the upcoming Winter Olympics
File

    बीजिंग: विदेशी एथलीटों (Foreign Athletes) को बीजिंग (Beijing) और नजदीकी शहर झांगजियाकोउ में चार फरवरी से शुरू हो रहे शीतकालीन ओलंपिक (Winter Olympics) में भाग लेना है लेकिन सरकार ने अभी तक यह नहीं बताया है कि, ज्यादातर विदेशियों को चीन (China) आने से रोकने वाली पाबंदियों में छूट दी जाएगी या नहीं।

    चीन के ज्यादातर हिस्से संक्रमण मुक्त हैं लेकिन महामारी से निपटने के लिए लगायी पाबंदियों से पर्यटक उन स्थानों पर जाने को लेकर चिंतित हैं जहां उन्हें रोका जा सकता है। चीन की प्रत्येक मामले को अलग करने और संक्रमण रोकने की ‘‘जीरो टोलरेंस” रणनीति से देश को संक्रमण मुक्त रखने में मदद मिली। लेकिन जनता और उद्योग इसकी कीमत चुका रहे हैं। पूर्वी तियानजिन शहर में बीझोंग इंटरनेशनल ट्रैवल एजेंसी के पास जुलाई में कोरोना वायरस फिर से फैलने के बाद से महज एक ग्राहक आया है।

    एजेंसी के प्रबंधक वांग हुई ने कहा, ‘‘दो साल पहले यह हमारा सबसे व्यस्त समय रहता था। अब ग्राहक महामारी फैलने के कारण यात्रा की अपनी योजनाएं टाल रहे हैं।” चीन ज्यादातर विदेशी पर्यटकों के लिए बंद है और उसने अपने नागरिकों को भी यात्रा से बचने की सलाह दी है। सरकार ने शीतकालीन खेलों के लिए कोरोना वायरस रोधी कदमों पर अभी तक अंतिम जानकारियां नहीं दी हैं। इसमें करीब 2,900 एथलीटों को भाग लेना है और साथ ही चार से 13 मार्च तक पैरा ओलम्पिक शीतकालीन खेलों में 800 से अधिक एथलीट भाग लेंगे।

    जुलाई के बाद से ही यात्रियों को अधिक संक्रामक डेल्टा स्वरूप देश में लाने के लिए जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। इस स्वरूप के मामले शंघाई के पश्चिमी शहर नानजिंग, पुतियान और शियामेन में सामने आए। हालांकि संक्रमण के मामलों की संख्या ज्यादा नहीं रही। अर्थशास्त्री लैरी हू और शिन्यु जी ने एक रिपोर्ट में कहा, ‘‘कोविड-19 को नियंत्रण में करने के लिए जीरो टोलरेंस की नीति अत्यधिक प्रभावी रही है लेकिन कम अवधि में इसकी अत्यधिक कीमत चुकानी पड़ रही है।”

    इस बीच, चीन के उत्तरपूर्वी हार्बिन शहर में अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए शहर में राष्ट्रीय स्तर के स्वास्थ्य अधिकारियों को भेजा है। 95 लाख की आबादी वाले इस शहर में बुधवार को संक्रमण के तीन मामले सामने आए। इससे एक दिन पहले सामुदायिक संक्रमण का पहला मामला सामने आया था। प्राधिकारियों ने व्यापक पैमाने पर जांच शुरू कर दी है और स्कूलों को बंद कर दिया है।

    शहर में पार्लर, सिनेमाघरों और जिम जैसे कारोबारों को भी बंद करने का आदेश दिया गया है। शहर के प्राधिकारियों ने कहा कि निवासियों को केवल आवश्यक काम के लिए बाहर निकलने के वास्ते कोरोना वायरस से संक्रमित न पाए जाने की जांच रिपोर्ट दिखानी होगी। (एजेंसी)