The chairs from Sangli in Maharashtra reached England, was found kept in a cafe in Manchester, watch video

    मुंबई: इंग्लैंड (England) के मैनचेस्टर (Manchester) में महाराष्ट्र (Maharashtra) की लोहे की कुर्सियों (Chairs) का एक वीडियो (Video) सोशल मीडिया (Social Media) पर तेज़ी से वायरल (Viral) हो रहा है। यह वीडियो जाने माने क्रिकेट समीक्षक सुनंदन लेले ने अपने ट्विटर पर पोस्ट किया है। बताया जा रहा है कि, ये लोहे की कुर्सियां सांगली जिले के सावलज से इंग्लैंड पहुंची। वीडियो में देखा जा सकता है कि, यह कुर्सियों काफी पुरानी है। इन पर पर मराठी में ‘बालू लोखंडे, सवलज’ लिखा है। 

    वीडियो के साथ सुनंदन लेले ने  लिखा, अल्ट्रिनचम , मैनचेस्टर के बालू लोखंडे। बताया जा रहा है कि, मैनचेस्टर में मौजूद सुनंदन लेले की नज़र कुर्सियों पर मराठी में लिखे अक्षरों पर पड़ी इसके बाद उन्होंने इसका वीडियो शूट कर लिया और सोशल मीडिया पर इसे पोस्ट कर दिया। मराठी में लिखे अक्षरों के कारण सुनंदन लेले ने उत्सुकतावश इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर किया।

    एक रिपोर्ट के अनुसार, बालू लोखंडे महाराष्ट्र के सांगली में स्तिथ सावलज गांव के मंडप व्यवसायी हैं। इस मंडप व्यवसायी के पास कई साल पुरानी लोहे की कुर्सियां थीं। करीब 13 साल पहले उन्होंने पुरानी कुर्सियों को बेच दिया था और नई फाइबर कुर्सियों को खरीद लिया था। संयोग से बालू लोखंडे ने कुर्सियों से नाम नहीं हटाया था जिसके चलते जब बेची गई कुर्सियां इंग्लैंड के एक व्यापारी ने खरीदा तो उसने ऐसे ही उन्हें इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। अब इन कुर्सियों के फोटो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रही हैं।