Image: Google
Image: Google

     लंदन: अक्सर लोगों की दफ्तरों में काम करते हुए। अवकाश को लेकर दिक्कत होती है। कंपनी अवकाश के अलावा अवकाश देने में आनाकानी करती है। इन दिनों अवकाश को लेकर ऐसा ऐसा अजीबोगरीब मामला सामने आया है। जहां एक महिला ने कंपनी से 1 घंटे की छुट्टी मांगी तो तो कंपनी ने माना कर दिया। उसके बाद महिला ने कुछ ऐसा किया कि कंपनी को महिला को 2 करोड़ रूपये का मुआवजा देना पड़ा। यह सुनकर हैरानी जरूर हो रही होगी कि महिला ने ऐसा क्या किया जो कंपनी ने उसे 2 करोड़ रूपये दिया।

    बता दें कि यह घटना ब्रिटेन के लंदन की है। एक रियेल एस्टेट कंपनी में एलिस सेल्स मैनेजर काम करती थीं। एलिस ने कंपनी से अपनी छोटी बच्ची की देखभाल के लिए 1 घंटे की छुट्टी मांगी थी।एलिस ने कंपनी से कहा कि वह अपनी छोटी बच्ची के लिए सप्ताह में चार दिन एक घंटे कम काम करने की इजाजत मांगी। कंपनी ने महिला की छुट्टी ख़ारिज कर दी। एलिस  ने सबसे पहले तो कंपनी से इस्तीफा दिया और फिर इसके बाद वो सीधा कोर्ट पहुंच गईं।

    कोर्ट ने महिला की बात सुनी और कंपनी को पता चली तो कंपनी ने भी अपना प्रतिनिधित्व कोर्ट में भेज दिया और उसने कंपनी की बात वहां रखी। कोर्ट ने पक्ष की बात सुनी और  यह पाया गया है कि कंपनी काम में फ्लेक्सिबिलिटी देने के मामले में विफल रही। जिसके चलते कंपनी को एलिस को सैलरी के नुकसान के साथ-साथ भावनाओं को चोट पहुंचाने और जेंडर भेदभाव के लिए ऐलिस को करीब दो करोड़ रुपये का मुआवजा देने का फैसला सुनाया।