putin
Pic : Twitter

    नई दिल्ली. मिली खबर के अनुसार, 4-5 दिसंबर की रात यूक्रेन (Ukraine) ने रूस पर दो अटैक किए हैं। इन दोनों ही हमलों में रूसी एयरबेस (Russian Airbase) को निशाना बनाया गया। इसमें पहला हमला सारातोव के एंगेल्स एयरबेस पर ड्रोन से किया। इस खतरनाक हमले में कई Tu-95 बॉम्बर डैमेज हुआ। साथ ही 2 रूसी सैनिकों के जख्मी होने की खबर है। वहीं दूसरा हमला दियागहिलेव एयरबेस पर हुआ। इस हमले के लिए एक फ्यूल टैंकर में जबरदस्त विस्फोट किया गया। इसमें 3 रूसी नागरिक मारे गए, 6 जख्मी हुए। ये दोनों एयरबेस यूक्रेन बॉर्डर से करीब 700 किलोमीटर दूर हैं।

    यूक्रेन बोल रहा झूठ !

    इसके साथ ही अब यूक्रेन का यह भी दावा है कि उसके पास हथियारों की कमी है, उसे लॉन्ग रेंज वेपन सिस्टम की सख्त जरूरत है, लेकिन बॉर्डर से 700 किलोमीटर अंदर रूस की धरती पर हमला कर देना इस बात का संकेत है कि यूक्रेन के पास ऐसे मारक हथियार भी अब पहुंचाए जा रहे हैं, जिनकी जानकारी दुनिया को अब तक नहीं दी गई।

    यूक्रेन की रूस में सर्जिकल स्ट्राइक! 

    हालांकि घोषित तौर पर यूक्रेन के पास फिलहाल सबसे दूर तक मार करने वाला हथियार ATACMS है। ये ख़ास हथियार और टैक्टिकल मिसाइल सिस्टम 300 किलोमीटर कि दूर तक ही मार कर सकता है। प्रश्न ये है कि फिर यूक्रेन के पास ऐसा हथियार कहां से आया जो 700 किलोमीटर दूर तक वार कर सके? क्या यूक्रेन को लंबी दूरी तक मार करने के हथियार चोरी-छिपे दिए जा रहे हैं? या यूक्रेन ने अब रूस की सीमा में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की है? इसके उत्तर जो भी हो, लेकिन यह साफ़ है कि,  यूक्रेन की पहुंच बॉर्डर से सुरक्षित दूरी वाली रूस के सैन्य ठिकानों तक भी हो चुकी है। 

    पुतिन कर सकते हैं परमाणु हमला

    उधर पुतिन पहले ही दो टुक में अपनी चेतावनी दे चुके हैं और अब परमाणु हमला ही उनके लिए अंतिम विकल्प हो सकता है। रूस पर इतना बड़ा और इतनी दूरी तक मारक हमला यूक्रेन ने अबसे पहले कभी नहीं किया। जानकारी  दें कि 10 महीने में ये सबसे बड़ा हमला है। वहीं अब इन 2 एयर बेस पर हमला होने का मतलब है पुतिन को परमाणु हमले के लिए उकसाना, इस परमाणु हमले के पीछे कई ये बड़ी वजह बन सकती हैं।

    putin

    रूस ने दागीं मिसाइल

    उधर रूस ने यूक्रेन में कई मिसाइल दागीं, जो घरों व इमारतों में जाकर गिरीं और इसके कारण कई आम नागरिकों की मौत हो गई। रूस ने उसके क्षेत्र में दो सैन्य हवाई अड्डों पर यूक्रेन द्वारा ड्रोन हमले किए जाने का आरोप लगाने के बाद यह कार्रवाई की है। रूस में इस अप्रत्याशित हमले के बाद नौ महीने से जारी युद्ध के और तेज होने की आशंका पैदा हो गई है।

    वैसे भी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपनी भूमि की रक्षा करने के लिए हर उपलब्ध साधन का इस्तेमाल करने की धमकी दी है। रूस, क्रीमियाई प्रायद्वीप को उसकी मुख्य भूमि से जोड़ने वाले अहम पुल पर आठ अक्टूबर को की गई बमबारी के जवाब में लगभग हर सप्ताह यूक्रेन में विस्फोट कर रहा है।