Iran made its own Corona vaccine, begins vaccine test on human
Representative Image

डार मंगी (पाकिस्तान): यूनिसेफ (UNICEF) के वैश्विक टीकाकरण (Vaccination) के उप प्रमुख बेंजामिन श्रेइबर (Benjamin Schreiber) ने कहा है कि युद्ध (War) और अस्थिरता (Instability) के कारण गरीब देशों में टीकाकरण (Vaccination) को लेकर चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।

उन्होंने कहा, ‘‘सबसे चुनौतीपूर्ण क्षेत्र संघर्ष और हिंसा है जहां टीकाकरण के कार्यक्रम में बाधा पहुंचती है और ऐसे क्षेत्र जहां गलत सूचना प्रसारित की जा रही है वहां समुदाय की भागीदारी हतोत्साहित होती है।”

एशिया (Asia), अफ्रीका (Africa), मध्य पूर्व और लैटिन अमेरिका (Latin America) के कई गरीब और विकासशील देशों में परेशानियों का एक प्रमुख कारण हिंसा है और इन देशों में कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ आबादी के बीच टीकाकरण कार्यक्रम को चलाया जाना है।

श्रेइबर ने कहा कि यूनिसेफ, जो दुनियाभर में टीकाकरण कार्यक्रम चलाता है, कोविड-19 टीकों की खरीद और वितरण में मदद करने के लिए कमर कस रहा है। उन्होंने कहा कि आधा अरब सीरिंज का भंडार कर लिया गया है और 70,000 रेफ्रिजरेटर उपलब्ध कराने का लक्ष्य है, जिनमें ज्यादातर सौर ऊर्जा से संचालित हैं।

यूनिसेफ की कार्यकारी निदेशक हेनरीटा फोर ने एक बयान में कहा कि एजेंसी का लक्ष्य अगले साल एक महीने में 850 टन कोविड-19 टीके का परिवहन करना है।