अमेरिका में विश्वविद्यालय ने जैन धर्म और हिंदू धर्म पर पीठ स्थापित की

वाशिंगटन. अमेरिका के एक विश्वविद्यालय (US University)ने जैन धर्म और हिंदू धर्म पर एक पीठ स्थापित करने की घोषणा की है। विश्वविद्यालय ने अपने धार्मिक अध्ययन कार्यक्रम के तहत इस पीठ की स्थापना की है। कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी, फ्रेस्नो में जैन और हिंदू धर्म (Jain and Hindu Dharma) पर अध्ययन के लिए एक संयुक्त पीठ स्थापित करने में भारतीय मूल के 24 से ज्यादा लोगों ने योगदान दिया है। कला और मानविकी कॉलेज के दर्शन विभाग में जैन और हिंदू धर्म पर पीठ की स्थापना की जाएगी और यह विश्वविद्यालय के धार्मिक अध्ययन कार्यक्रम का अभिन्न हिस्सा होगा।

जैन और हिंदू धर्म की परंपरा के एक विशेषज्ञ प्रोफेसर को 2021 में अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त किया जाएगा। मीडिया में जारी विज्ञप्ति के अनुसार जैन और हिंदू समुदाय तथा कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी (California State University) (CSU) , फ्रेस्नो के बीच यह संबंध मौजूदा एवं आगामी पीढ़ी के छात्रों को अहिंसा, धर्म, न्याय, दर्शन, हिंदू जैन ग्रंथों एवं परंपराओं के माध्यम से सभी प्राणियों एवं पर्यावरण के बीच परस्पर सह-संबंध की शिक्षा देने की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी (सीएसयू), फ्रेस्नो के अध्यक्ष जोसेफ आई. कास्त्रो ने कहा, ‘‘कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी की कभी जैन और हिंदू समुदायों से भागीदारी नहीं थी।

मुझे प्रसन्नता है कि फ्रेस्नो राज्य में यह हुआ। इसने सीएसयू के अन्य कैम्पस और देश के लिए एक मॉडल स्थापित किया है।” लॉस एंजिलिस के प्रमुख जैन समाजसेवी और इस पीठ के समर्थक रहे जसवंत मोदी ने कहा, ‘‘हमें आशा है कि युवा पीढ़ी जब शिक्षा के लिए कॉलेज आएगी तो वह अहिंसा का रास्ता अपनाकर देश-दुनिया की समस्याओं का निराकरण करने वाले महात्मा गांधी, मार्टिन लूथर किंग और अन्य महापुरूषों के योगदान से अवगत होगी।” (एजेंसी)