सरकार के 2 करोड रू. पर फेरा पानी, शिंदोला-कलमना रास्ते की दुर्दशा

  • दुपहिया चलाना हुआ मुश्कील, दुर्घटनाओं में हुई वृध्दी

वणी. तहसील के शिंदोला से कलमना मार्ग पर रास्ते की काफी दुर्दशा हुई है. इस मार्ग से सिमेंट, पत्थर, कोयला की यातायात होने से गत चार वर्ष पहले सरकार ने रास्ता निर्माण कर 2 दौर में खर्च किए 2 करोड रू. पर आज पानी फिर गया है. रास्ते पर बडेबडे गड्डे निर्माण होने से दुर्घटनाओं में वृध्दी हुई है. बारीश की वजह इस रास्ते से नागरिक दुपहिया भी नही चला सकते.

चंद्रपुर जिले के गडचांदुर के  महत्वपुर्ण प्रकल्प को  शिंदोला-कलमना मार्ग से जोडा गया है. गडंचादुर से यवतमाल जिले में सिमेंट की यातायात करने के लिए बायपास मार्ग परिचित है. इसी रास्ते से एसीसी सिमेंट कंपनी के तहत निर्माण होनेवाले पत्थर की यातायात होती है. इस मार्ग पर बसे कई गाव यह इस क्षेत्र के प्रकल्प से बाधित है. लेकिन गाव के नागरिक इस रास्ते से सुरक्षित यात्रा नही कर सकते. 

शिंदोला परीसर में  सिमेंट निर्मीती के लिए एसीसी सिमेंट कंपनी यह बडा प्रकल्प कार्यरत है. इस प्रकल्प ने परीसर के बाधीत 13 गावों को गोद लिया है. फिर भी कई समस्याओं से नागरिक झुज रहे है. तो कंपनी प्रशासन सिएसआर निधी के तहत विकास कार्य होने का ढिंढोरा पिट रहे है. इस रास्ते की समस्या कई बाद नागरीको ने सार्वजनीक निर्माणकार्य विभाग की ओर बताई, लेकिन इस ओर अनदेखी की गई.