मुकुटबन स्वास्थ्य केंद्र में वैद्यकिय अधिकारी समेत 21 पद रिक्त

  • चिकित्सा प्रमाणपत्र के लिए 20 किमी की यात्रा

मुकूटबन. झरी जामणी तहसील के मुकुटबन प्राथमिक स्वास्थ्य में वैद्यकिय अधिकारी समेत 20 पद रिक्त है, जिससे मरीजों को समय पर सुविधा नहीं मिलती. सरकारी कामकाज के लिए लगनेवाले वैद्यकिय प्रमाणपत्र के लिए झरी जामणी के ग्रामीण अस्पताल में 20 किलो मीटर की यात्रा लोगों को करनी पडती है.

इस स्वास्थ्य केंद्र में वैद्यकीय अधिकारी 1, औषधी निर्माण अधिकारी 1, आरोग्य सेवक 1, आरोग्य सेविका 7, प्रयोगशाला तंत्रज्ञ 1, सफाई कामगार 1, परिचर 3, पहारेकरी 2 ऐसे कुल 21 पद रिक्त रहने से मरीजों को समय पर स्वास्थ्य सेवा नहीं मिलती. वैद्यकिय अधिकारी दिपक पंडित ने 26 जुलाई 2019 को पदभार संभाला. बीच में अप्रैल माह से जुलाई माह तक डा. विपुल देवतले की नियुक्ति की गई थी. उनके इस्तीफे के कारण पद अभी भी रिक्त है.

मुकुटबन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के तहत 38 गांवों की आबादी 32,230 है और यहां तक कि 9 उप केंद्रों में सहायक चिकित्सा अधिकारी नहीं हैं, इसलिए 38 गांवों से किसी भी बिमारी पर प्राथमिक उपचार के लिए मुकुटबन स्वास्थ्य केंद्र में लाया जाता है. मुमुटबन में एक सीमेंट कंपनी स्थापित की जा रही है, जिससे यहां राज्य और अन्य राज्यों के श्रमिक पहुंचे है. हर दिन 60 से 70 ओपीडी के मरीज, 10 से 15 इमरजेंसी के मरीज, महीने में 15 से 20 पुलिस केस की जांच की जा रही है.

बॉक्स: मुकुटबन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पुलिस व आरोपियों की मेडिकल जांच को अदालत में ग्राहय माना जाता है. लेकिन यह एक त्रासदी है कि कोविड-19, विधवा और वृद्ध निराधार योजना, चालक का लाइसेंस, सरकार से प्राप्त अन्य योजनाओं के लिए आवश्यक चिकित्सा प्रमाणपत्र मुकुटबन स्वास्थ्य केंद्र से प्राप्त नहीं होता है. इसलिए, मेडिकल सर्टिफिकेट के लिए, झरीजामणी ग्रामीण अस्पताल तक पहुंचने के लिए 20 किमी की यात्रा करनी पडती है.

कोरोना पूरे देश में फैल रहा है, जबकि मुकुटबन स्वास्थ्य केंद्र में रिक्तपदों की वजह से मरीजों को समय पर सेवा नहीं मिलती. इस स्वास्थ्य केंद्र में 108 एंबुलेंस भी नहीं है. मरीजों को रफेर करने के लिए वणी, यवतमाल, चंद्रपुर ओर नागपुर के सरकारी अस्पताल ले जाने के लिए विविध समस्याओं का सामना करना पडता है. इसलिए, यह मांग की जा रही है कि तालुका और जिला स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ध्यान दें और रिक्त पदों को पदभर्ती करें और सरकारी काम के लिए आवश्यक चिकित्सा प्रमाणपत्र मुकुटबन स्वास्थ्य केंद्र से ही मिले.