Post-monsoon rains raise concern for paddy farmers in Maharashtra
File Photo

    यवतमाल. बंगाल के उपसागर में 11 मई को कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना से मानसून के रफ्तार पकड़ने की उम्मीद है. परिणामस्वरूप, 11 से 15 जून तक विदर्भ में मानसून के दस्तक की संभावना श्री शिवाजी कृषि कॉलेज के मौसम विशेषज्ञ डा. अनिल बंड ने व्यक्त की है. इस साल मानसून समय पर होने से किसानों में हर्ष है. जिसके चलते बुआई की तैयारियां भी तेज हो गई है.

    कई जिलों में तूफानी बारिश का अंदेशा

    8 जून को नागपुर, वर्धा समेत पूर्वी विदर्भ में छिटपुट से मध्यम बारिश तथा बाकी क्षेत्र में बौछारें पड़ने की संभावना है. 9 जून को अमरावती, भंडारा, चंद्रपुर, नागपुर, वर्धा, गड़चिरोली और कई अन्य स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है. पश्चिम विदर्भ में कुछ स्थानों पर बादलों की गर्जना के साथ तथा पूर्व विदर्भ में तूफानी बारिश का अनुमान है. 10 व 11 जून को अकोला, अमरावती, बुलढाना, वाशिम, यवतमाल जिले के कुछ क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश तथा शेष क्षेत्रों में तेज बरसात का अंदेशा है. 11 जून के बाद विदर्भ में बारिश बढ़ने की जानकारी प्रा. अनिल बंड ने दी है.