किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कृषि विधेयक बिल किए पारीत – पूर्व कृषि मंत्री डा. अनिल बोंडे

यवतमाल. किसानों के हित के लिए तथा आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि विधेयक बिल पारित किए, ऐसा  पूर्व कृषि मंत्री तथा भाजपा के किसान मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष डा. अनिल बोंडे ने आज बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में कहा.

पूर्व कांग्रेस सरकार ने कृषि उपज बाजार समिति की मनमानी चलती थी, अब किसानों को अपनामाल कहीं पर भी बेचने की अनुमति है. जिससे किसानों का मनोबल बढेगा, किसानों को करार करने की अनुमति है जिसमें किसान बुआई के पहले ग्राहक के साथ करार कर सकता है. वह करार सिर्फ फसलों का रहेगा, खेत जमीन का करार उसमें शामिल नहीं रहेगा.

इन विधयेकों से किसानों को चारों तरफ से लाभ ही होगा. पीएम किसान सम्मान निधि योजना अंतर्गत अबतक देश के 10 करोड किसानों के खाते में 94 हजार करोड रुपए जमा किए है. जिससे कांग्रेस को जलन हुई और उसके बाद अंबानी, अदानी यह किसानों के जमीन पर कब्जा करेंगे, ऐसा भ्रम फैलाकर किसानों का आंदोलन खडा किया, ऐसा आरोप भी बोंडे ने किया. शरद जोशी शेतकरी संगठन का भाजपा को समर्थन है. इस समय भाजपा के जिलाध्यक्ष नितिन भुतडा, महामंत्री राजू पडगिलवार, धोटकर आदि उपस्थित थे.

दानवे के वक्तव्य से सहमत नहीं

भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष रावसाहब दानवे ने किसान आंदोलन को चीन और पाकीस्तान का समर्थन है, ऐसा वक्तव्य करके महाराष्ट्र में ही नहीं तो देश में खलबली मचाई. इस वक्तव्य से भाजपा का कोई लेनादेना नहीं, और मैं भी इस वक्तव्य से सहमत नहीं हूं. ऐसा भी उन्होंने कहा. किसानों के आंदोलन को कांग्रेस राजनीतिक तौर पर भडकाकर देश में आराजकता फैलाने की कोशिश कर रहें है. ऐसा कडा आरोप भी उन्होंने किया.