आत्मनिर्भर होगी आंगनवाड़ियां, एकात्मिक बाल विकास परियोजना

    उमरखेड.केन्द्र सरकार के पोषाहार अभियान के तहत एकात्मिक बाल विकास परियोजना विभाग ने पारस बाग की संकल्पना को ग्रामीण क्षेत्रों की आंगनवाड़ियों को पौष्टिक व प्रोटीन युक्त सब्जियों के उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने क्रियान्वित किया है. इसके लिए पत्तेदार सब्जियों के बीज की आपूर्ति की गई है.

    आंगनवाड़ी स्तर पर प्रोटीन युक्त सब्जियां उपलब्ध कराने केंद्र सरकार ने डाकघर के माध्यम से परसबाग के विकास के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को बीज के पैकेट की आपूर्ति की है. राष्ट्रीय बीज महामंडल की ओर से उच्च गुणवत्ता वाले सब्जी बीज तैयार किए गए हैं. 

    बच्चों व गर्भवती महिलाओं को प्रोटीन के रूप में दिया जाएगा

    प्रधानमंत्री पोषाहार अभियान के सन्दर्भ में समग्र एवं व्यापक पोषण के सन्दर्भ में सब्जियों के बीजों की छोटे पैमाने पर खेती आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की ओर से स्वयं अथवा किसानों की सहायता से जून-जुलाई महीने में की जानी है. ज्यादातर आंगनवाड़ी सेविका किसान परिवारों से हैं. किसानों या लाभार्थियों के माता-पिता का सहयोग लेना होगा. इस सब्जी  का उपयोग आंगनवाडी के बच्चे और गर्भवती माताओं, स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए एक प्रोटीन भोजन के रूप में किया जाएगा. उमरखेड़ स्थित डाकघर से बीज पैकेट प्राप्त करने के बाद, कई आंगनवाड़ी सेविकाओं ने हलचल शुरू कर दी है. ताजी और स्वस्थ सब्जियों का सेवन किया जा सके. रोपण विशेषज्ञों और दिग्गजों के मार्गदर्शन के साथ किया जाना चाहिए. संभावित बीमारियों के लिए दवाओं की खरीद वित्तीय प्रावधान किया जाना चाहिए.

    घर पर ही सब्जी उद्यान किया जाएगा तैयार

    केंद्र सरकार का पोषाहार अभियान आंगनवाड़ियों को सब्जी बीज की आपूर्ति की पहल, बीज के पैकेट डाकघर  मिलने पर असमंजस में थे. उद्देश्य स्पष्ट होने के बाद कुछ लाभार्थी माता-पिता के सहयोग से घर पर ही सब्जी उद्यान का निर्माण किया जायेगा. बारिश अच्छी होने के बाद वास्तविक खेती के माध्यम से सब्जी की बागवानी के लिए प्रयास किया जाएगा.