Cropp Loss

  • किसानों ने की मुआवजा देने की मांग

महागांव. महागांव तहसील के गुंज, मालकिन्ही, क्षेत्र में बड़े पैमाने पर तूफानी हवाओं के चलने से पपीते और केले के बागों को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा. सोमवार की शाम इस क्षेत्र में जोरदार हवाएं चली.इससे किसानों के बागों को नुकसान पहुंचा. महागांव शहर और परिसर में दिनभर छाए बदरीले मौसम के बाद रात 8 बजे के दौरान तहसील में जोरदार हवाओं के साथ बारिश की शुरुआत हुई. इससे गूंज और मालकिन्ही गांव के किसान मारोती दिगांबर हाके हाके के खेत में पपीता के बाग में 1150 पेड़ों में 102 पेड़ पूरी तरह नष्ट हो गए.

मारोती लक्ष्मण गाठोडे के एक हेक्टेयर क्षेत्र में लगे केले और पपीता के 1,700 पेड़ों में पपीते के 28 और केले 50 पेड़ इस तूफान में जमीनदोज होकर नष्ट हो गए. जबकि विठठल दगडु पुकले नामक किसान के खेत में 50 केले और पपीते के 20 पेड़ों को नुकसान पहुंचा. शहनाज बी शेख ख्वॉजा शेख, शेख ख्वाजा शेख गुलाब, प्रभाकर डुबेवार, समेत अनेक किसानों के खेतों में नुकसान पहुंचा. तूफान के कारण हुए इस नुकसान का राजस्व विभाग ने पंचनामा किया है, किंतु इन किसानों के फसल को नुकसान का मुआवजा कब मिलेगा. ऐसा सवाल किसान उठा रहे हैं.

राजस्व विभाग ने किया पंचनामा

इस प्राकृतिक संकट के बाद राजस्व विभाग ने इस इलाके में नुकसान का पुचनामा करने के आदेश पटवारियों को दिया है. क्षेत्र में किसानों पर आसमानी संकट ने पीछा नहीं छोड़ा है. प्राकृतिक संकट से फसल को नुकसान पहुंचने के बाद सरकार द्वारा पंचनामा के अलावा कोई ठोस निर्णय नहीं होता है. ऐसे में आर्थिक संकटों में घीरे किसानों के सामने अब कैसे जिए ऐसा सवाल निर्माण हो चुका है. 

कृषि विभाग का उदासीनता रवैया

प्राकृतिक आपदा के कारण हमेशा किसानों को आर्थिक नुकसान झेलना पड़ रहा है, किंतु प्रशासन इसे गंभीरता से नहीं ले रहा है. नुकसान होने के 2-3 दिनों में राजस्व विभाग की ओर से नुकसान का पंचनामा होता है, इसमें भी पंचनामा के लिए आए कर्मचारी लचर तौर पर पंचनामा कर निकल जाते हैं, जिससे किसानों को नुकसान मुआवजा मिलने में दिक्कतें आती हैं. जिससे किसान मुआवजा से वंचित हो जाते हैं. इसके लिए प्रशासन का लापरवाह कामकाज जिम्मेदार है. तहसील में राजस्व विभाग और कृषि विभाग के किसानों के प्रति उदासनीता के कारण तहसील के किसानों को नुकसान मुआवजा मिलने में अन्याय किया जा रहा है.

-प्रमोद जाधव, तहसील अध्यक्ष राष्ट्रीय किसान मोर्चा महागांव