Seal
File Pic

यवतमाल. विगत तीन माह से यवतमाल शहर में कोरोना महामारी का कहर शांत होने के पश्चात बुधवार को स्थानीय नेताजी चौक में 45 वर्षिय व्यक्ति औरंगाबाद से आने के पश्चात उसकी रिपोर्ट पाजिटिव निकली है. जिसके चलते जिलाधिकारी व पुलिस अधक्षिक ने एहतियात बरतते हुए संत सेना चौक, नेताजी चौक तथा शहर पुलिस थाना परिसर का कुछ हस्सिा प्रतिबंधित कर दिया है.

यवतमाल शहर के भीडभाडवाले मुख्य चौराहे प्रतिबंधित होने से यातायात अन्य मार्ग से जोडी गई. तथा कोरोनाबाधित व्यक्ति के परिवार के 9 सदस्यों को कोविड केअर सेंटर में दाखिल किया गया है.

कोरोनामुक्त यवतमाल शहर में फिर से कोरोना के रडार पर आ गया है. साथ ही जिन वैद्यकिय अधिकारियों की ओर परीक्षण तथा दवापोचार किया गया था उन तीन डाक्टरों को भी होम क्वारंटान किया गया है. कोरोना की पार्श्वभूमि पर सभी नागरिकों को इस वायरस के प्रसार को रोकने के लिए दूसरों के संपर्क में नहीं आना चाहिए.

यदि आप आवश्यक वस्तुओं को खरीदने के लिए बाजार जाते हैं तो आपको सोशल डस्टिन्सिंग के नियमों का पालन करना आवश्यक है. मास्क का उपयोग करना भी आवश्यक है. नागरिकों से अनावश्यक बाहर नहीं जाना चाहिए. जिलाधिकारी एम. डी. सिंह ने सभी नागरिकों को साबून, हैंडवाश से बार-बार हाथ साफ करने के साथ नियमित रूप से सैनिटाइजर का इस्तमाल करने की अपील की है.