Fertilizer
File Photo

  • सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक चलेगा

यवतमाल. 2 जून से ब्रेक दी चेन के तहत जिलाधिकारी ने एक आदेश जारी कर कृषि से संबंधित दुकानों और सेवाओं को सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक जारी रखने की अनुमति दी थी. हालांकि, खेती के मौसम की शुरुआत के साथ, जिलाधिकारी अमोल येडगे ने कृषि सेवाओं और दुकानों के समय में बदलाव किया है ताकि किसानों को बीज, उर्वरक और अन्य कृषि इनपुट प्राप्त करने में कोई बाधा न हो. दुकानें अब सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक खुलेंगी.

कृषि से जुड़ी इन सेवाओं की होगी अनुमति

सभी प्रकार के कृषि सेवा केंद्र, बी-बीज, कीटनाशक, उर्वरक बिक्री केंद्र, ड्रिप सिंचाई, छिड़काव सिंचाई की दुकानें, कृषि सामग्री और कृषि उपकरण आदि को सुबह 7.00 बजे से शाम 7.00 बजे तक संचालित करने की अनुमति है. इस दौरान किसानों को दुकानों में बिक्री के साथ-साथ वाट्सएप/मोबाइल कॉल के जरिए जानकारी लेनी चाहिए और कृषि आदानों की होम डिलीवरी करनी चाहिए. ताकि किसानों की सुविधा के साथ-साथ भीड़ से बचने के लिए कृषि आदानों को बेचा जा सके.

साथ ही, कृषि निविष्ठा बिक्री केंद्र में कोविड त्रिसूत्री का पालन करने के लिए, और इस कृषि निविष्ठा को होम डिलीवरी के माध्यम से बेचने के लिए, जिला अधीक्षक, कृषि अधिकारी कार्यालय के माध्यम से तहसील कृषि अधिकारी (राज्य और जिला परिषद) द्वारा योजना बनाई जानी चाहिए और सख्त नियमों का पालन किया जाए, ऐसे आदेश जिलाधिकारी द्वारा जारी किए गए हैं.