मुख्यमंत्री महाआरोग्य कौशल विकास कार्यक्रम, जिले से 600 युवाओं को मिलेगा प्रशिक्षण

    यवतमाल. यवतमाल जिले में मुख्यमंत्री महा आरोग्य कौशल विकास कार्यक्रम के तहत अगले तीन माह में कुल 600 युवाओं को स्वास्थ्य सेवा, नर्सिंग, पैरामेडिकल जैसे विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रशिक्षित किया जाएगा ताकि कोरोना संक्रामक की पृष्ठभूमि में स्वास्थ्य क्षेत्र को पर्याप्त श्रमशक्ति प्रदान की जा सके. इस प्रशिक्षण केंद्र में, कै.  वसंतराव नाइक शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय यवतमाल, लक्ष्मणराव कलसपुरकर आयुर्वेदिक अस्पताल, यवतमाल, उपजिला अस्पताल, दारव्हा, पांढरकवड़ा, पुसद आदि. अस्पताल सहित इसमें कुछ निजी अस्पताल भी शामिल हैं. प्रशिक्षण ऑन-द-जॉब प्रशिक्षण पद्धति होगी.

    मुख्यमंत्री महा आरोग्य कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत अगले तीन महीनों में पूरे महाराष्ट्र में हेल्थकेअर, नर्सिंग और पैरामेडिकल के 36 पाठ्यक्रमों में 20,000 युवाओं को प्रशिक्षित किया जाएगा. इसके लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के हाथों और उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की मौजूदगी में 8 जुलाई को मुख्यमंत्री महा आरोग्य कौशल विकास कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया. यवतमाल में इस कार्यक्रम का ऑनलाइन शुभारंभ कै. वसंतराव नाइक गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, यवतमाल के डिन मिलिंद कांबले की अध्यक्षता में हुआ. मुख्य अतिथि के रूप में अप्पर जिलाधिकारी प्रमोद सिंह दुबे मौजूद रहे.

    इस समय जिला कौशल विकास, रोजगार एवं उद्यमिता मार्गदर्शन केंद्र के सहायक आयुक्त विद्या शितोले ने मुख्यमंत्री को महा आरोग्य कौशल विकास प्रशिक्षण के संबंध में विस्तृत मार्गदर्शन कर अभ्यर्थियों से बातचीत की. उन्होंने जिले के अभ्यर्थियों से भी इस प्रशिक्षण का लाभ उठाने की अपील की. अधिक जानकारी के लिए कार्यालय में संपर्क करें, विद्या शितोले, सहायक आयुक्त, कौशल विकास ने कहा.