District Magistrate Amol Yedge

  • कोरोना को लेकर कलेक्टर येडगे ने ली समीक्षा बैठक

यवतमाल. जिले में गत कुछ दिनों से कोरोनाबाधित मरीजों की संख्या और मृत्यु दर में दिन-प्रतिदिन वृद्धि हो रही है. इनमें मुख्य रूप से यवतमाल, पुसद, दिग्रस, दारव्हा, केलापुर, वणी और अन्य प्रमुख शहर शामिल हैं. जिलाधकिारी अमोल येडगे ने लोगों से अपने आप आगे आने की अपील की है. अधिकतम नागरिकों की जांच और टीकाकरण की आवश्यकता है. जिलाधिकारी कार्यालय में आयोजित कोविड की जिला स्तरीय समीक्षा बैठक में बोल रहे थे.

जिले के तहसीलों के साथ-साथ शहर में परीक्षण और टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाने की योजना है. जिलाधकिारी येडगे ने कहा कि (45) वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों को टीकाकरण के लिए स्वयं आगे आना चाहिए. 45 वर्ष से अधिक आयु के लाभार्थी, सरकारी व अर्ध-सरकारी कर्मचारी व उनके परिवारों के लाभार्थियों को टीकाकरण को प्राथमिकता दी जानी चाहिए. इस संबंध में संबंधित नगर पालिका, उपविभागीय अधिकारी कार्यालय, तहसीलदार, स्वास्थ्य व्यवस्था के साथ-साथ सभी कर्मचारी सुविधाओं को तैयार करने के निर्देश जिलाधकिारी ने दिए.

मृत्युदर पर जताई चिंता

जिले में बढ़ती मृत्यु दर चिंताजनक है और सरकारी मेडिकल कॉलेज को इसे कम करने के लिए उपचार की एक मानक प्रणाली लागू करने का निर्देश दिया गया है. मेडिकल कॉलेज, जिला सर्जन और खाद्य एवं औषधि प्रशासन को यह सुनिश्चित करने के लिए गंभीरता से ध्यान देना चाहिए कि आक्सीजन की आपूर्ति निर्बाध रूप से जारी रहे. जिलाधकिारी ने संबंधित अधिकारियों को जिले के प्रतिबंधित क्षेत्रों में आईएलआई की संख्या बढ़ाने, सारी परीक्षण  करने और नागरिकों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने का निर्देश दिए है.

इस समय जिप मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. श्रीकृष्ण पांचाल, आरडीसी ललित कुमार व-हाडे, मेडिकल कालेज के डीन डा. मिलिंद कांबले, जिला सर्जन डा. तरंगतुषार वारे, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. हरि पवार भी मौजूद थे.